रानीपुर क्षेत्रवासियों ने गुलदार को पकड़ने के लिए डीएफओ के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजा ज्ञापन, मृतकों और घायलों को मुआवजा देने की मांग की

हरिद्वार । गुलदार का आतंक झेल रहे रानीपुर क्षेत्र के लोगों ने वन विभाग से गुलदार को पकड़ने या मारने की मांग की है। क्षेत्रीय लोगों ने व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष संजीव चौधरी के नेतृत्व में डीएफओ के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी प्रेषित किया। ज्ञापन में मृतकों को 25-25 लाख व घायलों को 10-10 लाख मुआवजा दिए जाने की मांग भी की गयी है। लोगों ने इस मामले में जनप्रतिनिधियों की खामोशी पर नाराजगी भी जताई है। इस मौके पर व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष संजीव चौधरी ने कहा कि पिछले कई महीनों से क्षेत्रीय जनता में गुलदार का आतंक बना हुआ है। कई मासूम गुलदार का निवाला बन चुके हैं। गुलदार के हमले में कई लोग घायल भी हुए हैं। गुलदार के हमले में जान गंवाने वाले लोगों के परिवार सड़कों पर आ गए हैं। लेकिन किसी भी जनप्रतिनिधि ने इस संबंध अभी तक कोई आवाज नहीं उठायी। नेता व अधिकारी गहरी नींद में सोए हैं। केवल कुछ पिंजरे लगाकर काम निपटा दिया गया। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि जल्द ही गुलदार को पकड़ा या मारा नहीं गया तो जनता सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने को बाध्य होगी। चौधरी ने कहा कि गुलदार के हमले में जान गंवाने वालों के परिजनों को 25-25 लाख तथा घायलों को 10-10 लाख मुआवजा दिया जाए। सुमित तिवारी ने कहा कि उत्तरी हरिद्वार में भी गुलदार का आंतक बना हुआ है। वन क्षेत्र से लगे क्षेत्रों में लगातार गुलदार की आमद हो रही है। वन विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को रात्रि गश्त बढ़ानी चाहिए। शहरी क्षेत्र में गुलदार जैसे हिंसक वन्य जीवों का प्रवेश रोकने के लिए कारगर कदम उठाए जाने चाहिए। जिससे जनता पर मंडरा रहा खतरा टल सके। ज्ञापन देने वालों में आकाश सैनी, हर्ष चौधरी, जगदीप भारद्वाज, विपिन राणा, विजय धीमान, अरविन्द चौधरी, सुरेश मखीजा, नवीन राव, अशोक कुमार, सुधीर चन्द गुप्ता, रिंकू, अवनीश आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.