शहर विधायक प्रदीप बत्रा ने किया राजकीय इंटर कॉलेज में खेल महाकुंभ का उद्घाटन, कहा जीवन में किसी भी क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए लगन और मेहनत की जरूरत

रूड़की । शहर विधायक प्रदीप बत्रा ने कहा कि आज हर देश में खेलों को आवश्यक और महत्वपूर्ण स्थान दिया जाता है,स्कूलों में भी बच्चों के संपूर्ण विकास के लिए अनेक प्रकार के खेलों की व्यवस्था होती है , इसलिए माता-पिता भी अपने बच्चो को उसी स्कूल में डालना चाहते हैं जहाँ खेलों को ज्यादा महत्व दिया जाता है ।उन्होने कहा कि खेलों से मनुष्य के अन्दर सहनशीलता आती है , मनुष्य मिलनसार और उदार बनता है और जीवन में उन्नति के लिए इन गुणों का विकसित होना बहुत ज़रूरी है। विधायक प्रदीप बत्रा आज राजकीय इंटर कॉलेज में आयोजित खेल महाकुंभ के उद्घाटन समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे । इस अवसर पर प्रशिक्षु आईएएस/प्रभारी बीडीओ प्रतीक जैन ने भी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि खेलकूद अच्छे स्वास्थ्य की निशानी है, यह भी सर्वविदित है कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क होता है। प्राचीन काल से खेल लोगों का स्वस्थ मनोरंजन तो करते ही आए हैं, खिलाडियों में अनुशासन आपसी सहयोग व राष्ट्रीय एकता के भी यह साधन रहे हैं। हालांकि 21वीं सदी को विज्ञान एवं तकनीक की सदी कहा जा रहा है, लेकिन इस सदी में भी शिक्षा में खेलों के महत्त्व को नकारा नहीं जा सकता!
खंड शिक्षा अधिकारी रूडकी श्रीकांत पुरोहित ने कहा कि खेल बच्चों में कई प्रकार की व्यक्तिगत और सामाजिक क्षमताओं को प्रभावित करते है यथा आत्मविश्वास , अनुशासन ,शारीरिक सजगता, नियम- पालन,आदि! खेलो से ही विद्यार्थियों मे मानसिक , शारीरिक रूप से सेहतमंद बनने व चुस्त- दुरस्त रहकर सफलता की सीढ़ी पर पहुंचने मे मदद मिलती है।
राजकीय इंटर कॉलेज रूडकी के प्रधानाचार्य राम मिलन सिंह ने कहा कि खेलकूद ताजा दम करने वाली ऐसी गतिविधि है जिसमे व्यक्ति अपने पूरे आस्तित्व के साथ शामिल होता है! खेलो का वास्ता शिक्षण में सिर्फ बुद्धि , रणनीति या बदलाव की प्रक्रिया को समझने से ही नही है बल्कि शारीरिक क्रिया और समन्वय से भी है! खेल हमे हर कदम पर श्रेष्ठता हासिल करने के लिये प्रयासरत् रहने को प्रेरित करता है अत: शिक्षा के क्षेत्र में यह अपना अमूल्य योगदान प्रदान करता आया है और भविष्य में भी करता रहेगा। कार्यक्रम का संचालन राम शंकर सिंह ने किया।इस मौके पर संजय वत्स, राजीव कुमार शर्मा, अमीर आलम, कृष्ण गोपाल शर्मा, समीर शर्मा, नाजिम अली, प्रदीप कुमार, सुनील देसवाल, हेमा भारद्वाज, वंदना रोड, सुबोध नैन, खेल समन्वयक मंजीत सिंह राणा, अंजेश कुमार, मुदस्सिर, नरेन्द्र कुमार शर्मा, अजय पुंडीर, पूनम अग्रवाल, पूनम अरोड़ा,गोडविन जॉन दास, राजेन्द्र, सुशील चौधरी, प्रदीप बिष्ट, बालेश्वर शर्मा, पंकज, मनमोहन, सरस्वती पुंडीर, राकेश शुक्ला, धर्मेन्द्र चौहान, आदि शिक्षकगण मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *