उत्तराखण्ड क्रांति दल व राष्ट्रवादी जनलोक पार्टी मिलकर लड़ेगी 2022 विधानसभा का चुनाव, कहा उत्तराखण्ड के उज्जवल भविष्य के लिए लिया गया फैसला

हरिद्वार । उत्तराखण्ड क्रांति दल व राष्ट्रवादी जनलोक पार्टी ने 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव मिलकर लड़ने का ऐलान किया है। प्रैस क्लब में पत्रकारों के समक्ष यूकेडी के केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट व राष्ट्रवादी जनलोक पार्टी के संयोजक शेरसिंह राणा ने समक्ष दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन की घोषणा की। इस दौरान यूकेडी के पूर्व अध्यक्ष त्रिवेंद्र सिंह पंवार, हरिद्वार जिला अध्यक्ष राकेश राजपूत, लताफत हुसैन, सरिता पुरोहित, डीके पाल, विजय कुमार बड़ोनी, प्रमिला रावत, रेखा मियां, आशीष नौटियाल, राजेश्वरी रावत आदि सहित कई नेता मौजूद रहे। पत्रकारों से वार्ता करते हुए यूकेडी अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने कहा कि लंबे विचार विमर्श के बाद दोनों दलों ने राज्य हित में मिलकर काम करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि राज्य की स्थिति चिंताजनक है। प्रदेश में 3 हजार से अधिक स्कूल बंद कर दिए गए हैं। रोजगार नहीं मिलने के कारण लोग पलायन कर रहे हैं। पलायन नहीं रूका तो राज्य के अस्तित्व ही नहीं रहेगा। लगातार पलायन बढ़ने से राज्य में घुसपैठ का खतरा भी बढ़ रहा है। एक और स्थानीय लोग रोजगार की तलाश मे पलायन कर रहे हैं। वहीं सरकार प्रदेश को बाहरी लोगों की ऐशगाह बना रही है। दिवाकर भट्ट ने कहा कि राज्य में विधानसभा सीटों के परिसीमन में जनसंख्या के साथ क्षेत्रफल को भी आधार बनाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश की स्थिति बेहद खराब रही है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। सरकार किसानों का कर्ज माफ नहीं कर रही है। राष्ट्रवादी जनलोक पार्टी के संयोजक शेरसिंह राणा ने कहा कि उत्तराखण्ड के उज्जवल भविष्य के लिए यूकेडी के साथ मिलकर काम करेंगे। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी पलायन का मुख्य कारण है। प्रदेश में यूकेडी व राष्ट्रवादी जनलोक पार्टी की सरकार बनती है तो उद्योगों में स् 80फीसदी रोजगार स्थानीय युवाओं को देने के लिए कानून लाया जाएगा। सरकार बनने तक युवाओं को रोजगार देने व किसानों का कर्ज माफ करने के लिए आंदोलन के जरिए सरकार पर दबाव बनाय जाएगा। शेरसिंह राणा ने कहा कि उत्तराखण्ड को ऊर्जा प्रदेश कहा जाता है। लेकिन बिजली की भारी दरें लोगों के लिए परेशानी का भारी कारण बना हुआ है। सरकार बनने पर एक निश्चित सीमा तक उपभोक्ताओं को बिजली मुफ्त दी जाएगी। महिलाओं को सरकारी बसों में निःशुल्क यात्रा की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य गठन में यूकेडी की प्रमुख भूमिका रही है। लेकिन राज्य बनने के बाद सत्ता में आती रही भाजपा व कांग्रेस राज्य की जनता की जरूरतों व समस्याओं को समझ नहीं पा रही हैं। क्षेत्रीय दल ही स्थानीय लोगों की समस्याओं को बेहतर समझते हैं। दोनों दलों की सरकार बनने पर गैरसैंण को प्रदेश की दूसरी राजधानी के तौर विकसित किया जाएगा। जिला अध्यक्ष राकेश राजपूत ने शेरसिंह राणा व उनके संगठन के पदाधिकारियों का फूलमालाएं पहनाकर स्वागत किया। राकेश राजपूत ने कहा कि आंदोलनकारियों के सपनों को साकार करने के उद्देश्य से दोनों दल मिलकर प्रदेश हित में काम करेंगे। उन्होंने भाजपा व कांग्रेस पार्टी पर बारी बारी से प्रदेश को लूटने का आरोप भी लगाया और कहा कि विकल्प के तौर पर दोनों संगठन प्रदेश की जनता की उम्मीदों पर निश्चित तौर पर खरा उतरेंगे। सरकार को जगाने के लिए जनआंदोलन चलाने से भी पीछे नहीं हटा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *