28 बागियों ने बढ़ा रखीं भाजपा और कांग्रेस के प्रत्याशियों की टेंशन, जीत का बिगड़ रहा गणित, कई सीटों पर खुलेतौर पर उठा रखा बगावत का झंडा

देहरादून । टिकट की उम्मीद टूटी को बीजेपी और कांग्रेस के कई नेता बागी हो गए। पार्टी ने बहुत मनाया लेकिन इसके बाद भी बतौर निर्दलीय उम्मीदवार अपना पर्चा दाखिल कर दिया है। नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के साथ ही भाजपा और कांग्रेस में बगावत की स्थिति भी साफ हो गई है। भाजपा में फिलहाल 16 और कांग्रेस में 12 बागी अधिकृत प्रत्याशियों के लिए चुनौती बने हैं।पूर्व सीएम हरीश रावत की सीट लालकुआं से पूर्व में घोषित उम्मीदवार संध्या डालाकोटी भी बगावत पर उतर आई हैं। भाजपा में पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत की ओर से खाली की गई डोईवाला सीट पर तीन -तीन नेताओं ने अधिकृत प्रत्याशी के सामने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर नामांकन कर दिया है। कांग्रेस की तरफ से पूर्व मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण और मातबर सिंह कंडारी भी बगावत का झंडा उठा चुके हैं।
आईए आपको बताते हैं कि कुमाऊं औऱ गढ़वाल मंडल में किन किन सीटों पर बीजेपी और कांग्रेस बागियों की चुनौती का सामना कर रही है।

कुमांऊ मंडल की बात करें तो ऊधम सिंह नगर जिले की रुद्रपुर विधानसभा सीट पर बीजेपी विधायक राजकुमार ठुकराल बागी हो गए हैं औऱ निर्दलीय पर्चा भर दिया है तो किच्छा सीट पर बीजेपी की ही अजय तिवारी बागी हो गए हैं। ऊधम सिंह नगर जिले में कांग्रेस में किच्छा विधानसभा सीट से हरीश पनेरु ने बगावत का झंडा थामा हुआ है।
अल्मोड़ा जिले में रानीखेत विधानसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी के दीपक करगेती ने बगावत का झंडा बुलंद किया हुआ है।
बागेश्वर जिले में बागेश्वर विधानसभा सीट पर कांग्रेस बागी से परेशान है, यहां भैरवनाथ ने कांग्रेस में बगावत कर दी है।

नैनीताल जिले की बात करें तो यां लालकुआं विधानसभा सीट पर हरीश रावत के खिलाफ कांग्रेस की संध्या डालाकोटी बगावत कर रहा हैं तो बीजेपी के पवन चौहान और कुंदन सिंह मेहता लालकुआं सीट पर बागी हो गए हैं। वहीं रामनगर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के संजय नेगी बागी हो गए हैं तो कालाढूंगी विधानसभा सीट पर बीजेपी के गजराज सिंह बिष्ट बागी हो गए हैं। भीमताल विधानसभा सीट पर भाजपी के लाखन सिंह नेगी और मनोज साह ने बगावत का झंडा बुलंद किया हुआ है।
गढ़वाल मंडल की बाद करें तो देहरादून जिले में ऋषिकेश विधानसभा सीच से पूर्व मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण कांग्रेस में बागी हो गए हैं तो बीजेपी की उषा रावत ने बगावत का झंडा थामा हुआ है। डोईवाला विधानसभा सीट पर बीजेपी में तीन –तीन नेता बागी हो गए हैं। जितेंद्र नेगी, सुभाष भट्ट, और सौरभ थपलियाल ने बगावत कर दी है। वहीं सहसपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के अकिल अहमद, बागी हो गए हैं तो धर्मपुर विधानसभा सीट पर बीजेपी के वीर सिंह पंवार बगावत का झंडा थामे हुए हैं। इसी तरह देहरादून कैंट विधानसभा सीच पर बीजेपी के दिनेश रावत बागी हो गए हैं तो कैंट से ही कांग्रेस में चरणजीत कौशल बागी हो गए हैं। राजपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के संजय कन्नौजिया बगावत का झंडा बुलंद किए हुए हैं तो रायपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के सूरत सिंह नेगी बागी हो गए हैं।
हरिद्वार जिले की बात करें तो ज्वालापुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस के एसपी सिंह बागी हो गए हैं तो रानीपुर विधानसभा सीट पर बीजेपी के इशांत तेजीयान ने बगावत कर दी है। इसी तरह पिरान कलियर विधानसभा सीट पर बीजेपी के जय भगवान सैनी ने बगावत कर दी है।

टिहरी जिले की बात करें तो घनसाली से कांग्रेस के पूर्व विधायक भीम लाल आर्य बागी हो गए हैं तो बीजेपी के सोहन लाल खंडेवाल और दर्शनलाल बागी हो गए हैं, हीं धनौल्टी विधानसभा सीट से बीजेपी के पूर्व विधायक महावीर रांगड़ बागी हो गए हैं।

पौड़ी जिले की बात करें तो यहां कोटद्वार विधानसभा सीट से बीजेपी के धीरेंद्र चौहान ने बगावत कर दी है।

उत्तरकाशी जिले में यमुनोत्री विधानसभा सीट पर बीजेपी के जगवीर सिंह भंडारी बागी हो गए हैं तो कांग्रेस के संजय डोभाल ने बगावत कर दी है।

चमोली जिले में कर्णप्रयाग विधानसबा सीट से भारतीय जनता पार्टी के टीका प्रसाद मैखुरी ने बगावत का झंडा बुलंद किया हुआ है।

रुद्रप्रयाग जिले में रुद्रप्रयाग विधानसभा सीट से कांग्रेस के मंत्री मातबर सिंह कंडारी बागी हो गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.