हरिद्वार पुलिस को मिली बड़ी सफलता, शिवालिक नगर दोहरे हत्याकांड के आरोपी मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार

हरिद्वार । शिवालिक नगर में हुए दौहरे हत्याकांड के आरोपियों ओर पुलिस के बीच आज प्रभात के समय मुठभेड़ हो गई। जिस में हत्याकांड के मुख्य आरोपी को पैर में गोली लगने से घायल हो गया। जब कि मुठभेड़ से पहले ही पुलिस ने आरोपी के एक साथी को गिरफ्तार कर लिया था। हरिद्वार के रानीपुर कोतवाली क्षेत्र के शिवालिक नगर में 12 अक्टूबर की रात भेल के रिटायर्ड डीजीएम प्रह्लाद अग्रवाल और उनकी पत्नी गायत्री की हत्या करते हुए घर में लूटपाट की गई थी। हरिद्वार के शिवालिक नगर में हुए हत्याकांड को लेकर पुलिस प्रशासन सतर्क है। और घटना की जांच हर एंगल से कर रहे हैं। इसी दौरे हत्याकांड पर जांच का जायजा लेने डी जी अशोक कुमार आज शिवालिक नगर में घटनास्थल पर पहुंचे थे। दोहरे हत्याकांड के खुलासे के लिए जिले भर की पुलिस पसीना बहा रही है। साथ ही देहरादून एसटीएफ की टीम भी सहयोग कर रही है। हत्याकांड के बाद पुलिस टीमें सीसीटीवी कैमरे खंगालने ओर संदिग्धों से पूछताछ में जुटी हैं। इस दौरान जेल में बंद अपराधियों से भी पूछताछ की गई है। मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली जिस में पता चला कि हत्या के तार पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के एक कस्बे से जुड़े पाए गए हैं। हत्याकांड में दो लोग शामिल हैं। वह जेवर-नकदी लूटने के इरादे से घर में घुसे थे। हरिद्वार एसएसपी सेंथिल अबुदई राज कृष्ण एस ने बताया कि शिवालिक नगर में हुए हत्याकांड के एक आरोपी को सोमवार की शाम को गिरफ्तार कर लिया गया था।जिससे पूछताछ में दूसरे आरोपी सतेंद्र पुत्र दीपक सिंह निवासी खतौली मुज्जफरनगर यूपी के बारे में पता चला। पकड़े गए आरोपी के आधार पर पुलिस दूसरे आरोपी की तलाश कर रही थी। आज सुबह पुलिस को आरोपी के सुमन क्षेत्र में होने की सूचना मिली जिस में पता चला कि आरोपी भागने की फिराक में है। जब पुलिस के द्वारा आरोपी को रोकने का प्रयास किया गया तो आरोपी ओर पुलिस के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई जिसमें आरोपी की ओर से तीन और पुलिस की ओर से पांच गोली फायर की गई। जिसमे आरोपी के पैर में गोली लगने से घायल हो गया। घायल आरोपी को अस्पताल भेजा गया था। अब आरोपी की हालत खतरे से बाहार बताई जा रही है। आरोपी के पास से मिली बाइक ओर तमंचा पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *