गन्ना मंत्री स्वामी यतीश्वरानन्द ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गुरुकुल नारसन का औचक निरीक्षण किया, अस्पताल में तैनात डॉक्टरों के ना मिलने पर भड़के, कहा लापरवाही बरतने वालों पर होगी कार्रवाई

रुड़की । गन्ना मंत्री स्वामी यतिश्वरानन्द ने आज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गुरुकुल नारसन का औचक निरिक्षण किया। मौके पर डॉक्टरों की मौजूदगी ना होने पर भड़के मंत्री स्वामी यतिश्वरानन्द ने स्वास्थ्य सचिव को फोन कर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गुरुकुल नारसन की बदहाली पर संज्ञान लेने और लापरवाही करने वालों पर कार्यवाही करने के लिए कहा।
मंगलवार को गुरुकुल नारसन के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दोपहर में गन्ना मंत्री स्वामी यातिश्वरानन्द पहुँचे, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर केंद्र अधीक्षक ना होने पर मंत्री ने नाराजगी व्यक्त करते हुए स्वास्थ्य सचिव से फोन पर बात की और वहाँ की असुविधाओं को तत्काल ठीक करने के निर्देश दिए, इसके अलावा वहां हो रहे वैक्सीनेशन की जानकारी ली, स्वास्थ्य केंद्र में केवल दो ही संविदा डॉक्टर मिलने पर भी गन्ना मंत्री ने नाराजगी व्यक्त की और वहां मौजूद डॉक्टर एवं एसीएमओ डॉ साकिया को नारसन स्वास्थ्य केंद्र में व्यवस्थाएं दुरुस्त करने की बात कही इसके अलावा रात्रि में आपातकालीन सेवाएं भी उपलब्ध कराने के आदेश दिए।

वहां मौजूद गायब डॉक्टरों के खिलाफ भी कार्रवाई करने के लिए भी एसीएमओ को आदेश दिए और कहा कि वह शीघ्र ही पुनः निरीक्षण करेंगें, उन्होंने कहा कि इस भयानक बीमारी पर काबू पाने के लिए सरकार प्रयासरत है इसिलिए वह स्वयं जाकर व्यवस्थाओं का जायजा ले रहे हैं, इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष जयपाल चौहान, ऋषिपाल बालियान, गन्ना समिति लिब्बरहेड़ी चेयरमैन सुशील राठी, अपर उप जिलाधिकारी पूरण सिंह राणा, पुलिस क्षेत्राधिकारी पंकज गैरोला, इंस्पेक्टर मंगलौर यशपाल सिंह बिष्ट,योगेश कुमार, सोनू धीमान,कुलदीप भारद्वाज,राजीव वर्मा, विकास कुमार, पारुल कुमार, अरुण चौधरी, प्रभात कुमार आदि लोग उपस्थित रहे, इसके अलावा गन्ना मंत्री स्वामी यातिश्वरानन्द ने लिब्बरहेड़ी गाँव का भी दौरा किया तथा वहाँ पर हो रही कोरोना टेस्टिंग के बारे में भी डॉक्टरों से जानकारी ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *