बीइंग भगीरथ टीम ने गंगा वाटिका में किया पौधारोपण, राष्ट्रीय संयोजक ने कहा वातावरण को शुद्ध व हरा भरा बनाना हमारा कर्तव्य

हरिद्वार । बीइंग भगीरथ टीम के स्वयंसेवियों ने कनखल स्थित गंगा वाटिका में साफ सफाई व पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। पुलवामा के शहीदों की याद में किया जा रहे पौधा रोपण का 14 फरवरी को शहीदों को समर्पित किया जाएगा। संयोजक शिखर पालीवाल ने बताया कि वृहद स्तर से गंगा वाटिका में पौधारोपण किया गया है। पौधों के संरक्षण व संवर्द्धन में टीम पूरी निष्ठा के साथ अपने कार्यो को अंजाम दे रही है। वाटिका में लगाए गए पौधों में खाद पानी नियमित रूप से दिया जा रहा है। वाटिका को हरा भरा बनाने के प्रयास वृहद स्तर से किए जा रहे हैं। शिखर पालीवाल ने कनखल क्षेत्र के लोगों से आह्वान किया कि अधिक से अधिक पौधारोपण कर प्रदूषण को नियंत्रित करने में सहयोग करें। पर्यावरण को संरक्षित करने का सबसे अच्छा उपाय पौधारोपण है। धर्मनगरी को हराभरा बनाने के लिए टीम भावना से जुट जाएं। महाकुंभ मेला धर्मनगरी में आयोजित किया जाएगा। देश विदेश से श्रद्धालु भक्त धार्मिक क्रियाकलापों के लिए हरि की नगरी में पहुंचते हैं। हमारा कर्तव्य बनता है कि अपने आसपास के वातावरण को शुद्ध व हरा भरा बनाएं। गंगा वाटिका आदर्श वाटिका का रूप बन गयी है। वरदा चंदवानी ने कहा कि प्रत्येक रविवार को टीम के सभी सदस्य गंगा वाटिका में फैली गंदगी को एकत्र कर पौधों का संरक्षण कर रहे हैं। पौधे हमारे जीवन पर आ रहे संकट को दूर करने का सबसे अच्छा माध्यम है। शुद्ध हवा पेड़ों से ही मनुष्य को प्राप्त होती है। पेड़ों का संरक्षण करना सभी की जिम्मेदारी है। कुणाल धवन ने कहा कि लगातार गंगा वाटिका में शहीदों की याद में पौधारोपण अभियान चलाया गया है। जो पौधे पुलवामा के शहीदों की स्मृति में लगाए गए हैं। उनका संरक्षण टीम के सदस्य निस्वार्थ सेवाभाव करते चले आ रहे हैं। जितेंद्र चैहान ने कहा कि गंगा सफाई अभियान के साथ साथ पौधारोपण को भी बढ़ावा देने की आवश्यकता है। जनजागरूकता से ही पर्यावरण संरक्षण का कार्य किया जा सकता है। इस अवसर पर मधु भाटिया, जनक सहगल, सपना, संदीप खन्ना, बबीता, संतोष कुमार साहू, इंद्रपाल सिंह, गर्व भुटानी, धीरज भुटानी, कुणाल धवन, आदित्य भाटिया, राहुल गुप्ता, दिव्यांशु शर्मा, रेखा मलिक आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *