चुनाव से पहले उत्तराखंड के इस जिले में माहौल बिगाड़ने का प्रयास, जानवरों की हत्या कर फेंके शव, फोर्स तैनात, चौकी इंचार्ज लाइन हाजिर

रुद्रपुर । विधानसभा चुनावों से ठीक पहले शहर का माहौल बिगाड़ने की नीयत से कुछ असमाजिक तत्वों ने दो जानवरों को मारकर इनके शव एक खाली प्लाट में फेंक दिए। इससे कुछ संगठनों के लोग भड़क उठे। मामला तूल पकड़ने पर घटनास्थल पर मौजूद भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल और उनके समर्थकों का कांग्रेसियों से विवाद भी हो गया। पुलिस अधिकारियों ने किसी तरह मामला शांत कराया। उधर, एसएसपी ने आवास विकास चौकी इंचार्ज गोविंद सिंह अधिकारी को ड्यूटी में लापरवाही बरतने के आरोप में लाइन हाजिर कर दिया है। तनाव को देखते हुए नगर में भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। रविंद्र नगर-आवास विकास मुख्य मार्ग स्थित खाली पड़े एक प्लाट पर सोमवार सुबह एक जानवर और उसके बच्चे का शव पड़ा मिला। इससे कुछ संगठनों और समुदाय के लोगों की भीड़ मौके पर जमा हो गई। इन लोगों ने जानवरों के हत्यारों और साजिशकर्ताओं की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर एसएसपी दलीप सिंह कुंवर और एडीएम डॉ.ललित नारायण मिश्रा भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। इसी बीच भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल, भाजपा जिलाध्यक्ष शिव अरोड़ा के अलावा कांग्रेस नेत्री एवं पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष मीना शर्मा और कांग्रेस महानगर अध्यक्ष जगदीश तनेजा भी पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मौके पर पहुंच गए। यहां जानवरों के कत्ल को लेकर विधायक ठुकराल और कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं में नोकझोंक होने लगी। मामला इतना बढ़ गया कि विधायक और उनके भाई ने समर्थकों के साथ कांग्रेसियों से मारपीट का प्रयास किया। इस बीच पुलिस ने किसी तरह बीच-बचाव कर माहौल को शांत किया। तनाव बढ़ने की सूचना पर कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत और डीआईजी कुमाऊं रेंज डा.निलेश आनंद भरणे भी रुद्रपुर पहुंच गये हैं। ये दोनों वरिष्ठ अधिकारियों ने रुद्रपुर में ही डेरा डाल दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.