बहादराबाद को कुंभ क्षेत्र में शामिल किया जाना जरूरी, दोनों गंग नहर पर यहां बनाए जाएं बड़े स्नान घाट, श्रद्धालुओं के साथ ही स्थानीय लोगों को भी होगी स्नान करने में सुविधा, समाजसेवी विवेक चौहान ने सीएम मुख्य सचिव और प्रभारी मंत्री को भेजा ज्ञापन

बहादराबाद । बहादराबाद को कुंभ क्षेत्र में शामिल किया जाना बेहद जरूरी है। दरअसल, जब महाकुंभ शुरू होता है तो श्रद्धालु बहादराबाद तक फैल जाते हैं। इसीलिए बहादराबाद क्षेत्र में महाकुंभ जैसी सारी सुविधाएं होना जरूरी है। माना जा रहा है कि इसी वजह से क्षेत्रवासियों ने बहादराबाद को कुंभ क्षेत्र में शामिल किए जाने की मांग उठाई है। उनका कहना है कि महाकुंभ जैसे ही शुरू होता है तो बहादराबाद क्षेत्र पूरी तरह व्यस्त हो जाता है। इसीलिए बहादराबाद में यातायात पुलिस पेयजल बिजली सड़क और अन्य तमाम सुविधाएं हरिद्वार जैसी ही होनी चाहिए। इसमें सबसे पहले स्नान के लिए दोनों गंग नहर पर बड़े घाट बनाए जाने चाहिए। क्योंकि जब बाहर के श्रद्धालु महाकुंभ में आते हैं और उनके वाहन बहादराबाद क्षेत्र के पास ही पार्किंग होते हैं तो उन्हें स्नान की आवश्यकता होती है। लेकिन गंग नहर पर घटना होने के कारण उन्हें काफी परेशानी उठानी पड़ती है। इसीलिए दोनों गंग नहर पर बड़े घाट बनाया जाना जरूरी है । समाजसेवी विवेक चौहान ने इस संबंध में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रोफेसर नरेंद्र सिंह, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक और प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज को ज्ञापन लिखा है। इस संबंध में उन्होंने मेरा अधिकारी दीपक रावत को भी अवगत कराया गया है कि जब तक गंग नहर पर घाट नहीं बनेंगे। तब तक श्रद्धालुओं को स्नान में सहूलियत नहीं होगी। यहां पर श्रद्धालुओं के साथ ही स्थानीय लोगों के स्नान के लिए भी घाट की आवश्यकता है। उन्होंने बताया है कि सिडकुल क्षेत्र में हजारों श्रद्धालु छठ पूजा करते हैं। गंग नहर पर घटना होने के कारण उन्हें परेशानी उठानी पड़ती है। उन्होंने कहा है कि पर्यटन की दृष्टि से भी यहां पर आधुनिक ढंग से गंग नहर के घाट विकसित होने चाहिए। यहां पर घाट बनने से हरिद्वार प्रशासन पर भी दबाव कम हो जाएगा। समाजसेवी विवेक चौहान के नेतृत्व में इस मांग के संबंध में मुख्यमंत्री से मिलने का निर्णय लिया गया है । इस संबंध में जल्द ही मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रोफेसर नरेंद्र सिंह से भी वार्तालाप की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस संबंध में रानीपुर विधायक आदेश चौहान और ज्वालापुर विधायक सुरेश राठोर पहले ही गंग नहर पर घाट विकसित करने पर अपनी सहमति दे चुके हैं। विवेक चौहान व उनके साथियों ने यह भी बताया है कि यहां पर ध्या होने के कारण अक्सर दुर्घटनाएं भी होती हैं । क्योंकि घाट होगा तो सभी सुरक्षित ढंग से नहा सकेंगे। अब घाट नहीं है तो यहां पर युवक खतरे के बीच स्नान करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *