योग धर्म का वास्तविक एवं प्रायोगिक स्वरूप है, भाजपा जिला मंत्री अनामिका शर्मा ने कहा योग साधना की यह मंदाकिनी न कभी अवरुद्ध हुई है और न ही कभी अवरुद्ध होगी

हरिद्वार । अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर भाजपा जिला मंत्री एवं शिवालिक मंडल प्रभारी अनामिका शर्मा ने अपने आवास पर योग किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा है कि हिंदुस्तान की इस महान् भूमि ने योग की गंगा को समूची दुनिया में प्रवाहित करके मानवता का महान उपकार किया है। हिंदुस्तान की धरा साक्षी है रामकृष्ण परमहंस की परमहंसी साधना की, साक्षी है यहां का कण-कण विवेकानंद की विवेक-साधना का, साक्षी है। भाजपा जिला मंत्री अनामिका शर्मा ने कहा है कि योग साधना की यह मंदाकिनी न कभी यहां अवरुद्ध हुई है और न ही कभी अवरुद्ध होगी। इसी योग मंदाकिनी से आज समूचा विश्व आप्लावित हो रहा है, निश्चित ही यह एक शुभ संकेत है सम्पूर्ण मानवता के लिये। विश्व योग दिवस की सार्थकता इसी बात में है कि सुधरे व्यक्ति, समाज व्यक्ति से, विश्व मानवता का कल्याण हो। सचमुच योग वर्तमान की सबसे बड़ी जरूरत है। लोगों का जीवन योगमय हो, इसी से युग की धारा को बदला जा सकता है। गीता में लिखा भी है-योग स्वयं की स्वयं के माध्यम से स्वयं तक पहुँचने की यात्रा है। योग धर्म का वास्तविक एवं प्रायोगिक स्वरूप है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *