भाजपा कार्यकतार्ओं को नव वर्ष में मिलेगी नई जिम्मेदारी, विभिन्न दायित्व दिए जाने के साथ ही मंडी अध्यक्ष और पार्षद होंगे नामित

रुड़की । भाजपा कार्यकतार्ओं के लिए नववर्ष नई उम्मीद लेकर आ रहा है। उन्हें जो गिफ्ट के तौर पर दायित्व व तमाम नई जिम्मेदारियां मिलने जा रही है। इसे सभी कार्यकतार्ओं में उत्सुकता और उत्साह का माहौल है। साथ ही बेचैनी भी। उत्सुकता तो उन नेताओं के समर्थकों में देखी जा रही है जो कि विभिन्न पदों की लाइन में हैं। उत्साह उन कार्यकतार्ओं में बना हुआ है। जो की मंडी अध्यक्ष, पार्षद या फिर विभिन्न आयोगों में सदस्य बनने जा रहे हैं।सत्ता व पार्टी सूत्रों की मानें तो जितने भी दायित्व बचे हुए हैं । वह सब नव वर्ष के पहले महीने में ही वितरित कर दिए जाएंगे। 26 जनवरी से पहले यह सारा काम पूरा हो जाएगा। प्रदेश की कृषि उत्पादन मंडियों के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष व सदस्यों से संबंधित फाइलें पूरी तरह तैयार हैं। उनकी घोषणा भी नव वर्ष के पहले महीने में ही होने जा रही है। हरिद्वार जिले में पांच कृषि उत्पादन मंडी है राजनीतिक और कारोबार के लिहाज से पांचों ही मंडी अपना विशेष स्थान रखती हैं। जिसके चलते इन मंडियों के अध्यक्ष के लिए काफी लोग लाइन में है। इनमें से कुछ भाजपा संगठन से संपर्क बनाए हुए हैं तो कुछ कृषि मंत्री और मुख्यमंत्री के दरबार में दस्तक दे रहे हैं। भाजपा सूत्रों का कहना है कि पांचों कृषि उत्पादन मंडी के अध्यक्ष नामित करने के दौरान जातीय संतुलन साधने की हर संभव कोशिश होगी। इसमें एक मंडी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सैनी तो एक मंडी अध्यक्ष की जिम्मेदारी ठाकुर को मिलना तय है। तीन मंडी में से एक गुर्जर एक ब्राह्मण तो एक अन्य बिरादरी को मिलेगी। पहले से तैयार मंडी अध्यक्षों की पत्रावली की दोबारा समीक्षा हो रही है। अब देखना यह है कि नववर्ष में गिफ्ट के तौर पर सरकार की ओर से किसे मंडी अध्यक्ष पद मिलता है। दायित्व में कई बड़े नाम चर्चा में है। इसमें हरिद्वार रुड़की विकास प्राधिकरण पर भी कई की निगाह लगी हुई है। उत्तराखंड गन्ना विकास परिषद के उपाध्यक्ष पद की लाइन में भी हरिद्वार जनपद के कई नेता हैं। बता दें कि इसी बीच बहुत सारे नेताओं को भाजपा जिला कार्यकारिणी में भी नव वर्ष पर ही जगह मिलने जा रही है। सत्ताधारी पार्टी होने के नाते भाजपा जिला कार्यकारिणी में स्थान मिलना भी मायने रखता है। इसीलिए बहुत सारे दावेदारों को कड़क ठंड के बाद भी गर्माहट महसूस हो रही है। नव वर्ष के पहले सप्ताह में ही प्रदेश अध्यक्ष का नाम भी घोषित हो जाने की संभावना है। इसके बाद भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष भाजपा ओबीसी मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष व अन्य तमाम पदों पर भी नियुक्ति होगी। माना जा रहा है कि इसीलिए भाजपा के दावेदारों की देहरादून दौड़ बढ़ी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *