उत्तराखंड में भारी बारिश में खाई में गिरी बस, बाल-बाल बचीं 18 की जान, यात्रियों में मच गई चीखपुकार

देहरादून । मूसलधार बारिश के बीच डोटियाल क्षेत्र में 18 जिंदगियां बस बच ही गईं। यात्रियों से भरी बस का अचानक पट्टा टूट जाने से चालक संतुलन खो बैठा। बेकाबू वाहन पैराफिट तोड़ सड़क से उतर खाई की ओर जा पलटा। यात्रियों में चीखपुकार मच गई। पहाडिय़ों से दो तीन बार टकराने के बाद बस चीड़ के विशालकाय पेड़ से टकरा और गहरे में गिरने से बच गया। नतीजतन, बस में सवार सभी लोगों की जान बच गई और ग्रामीणों की मदद से उन्हें गंतव्य को रवाना कर दिया गया। आदर्श बस सेवा रोज की तरह सोमवार की सुबह रामनगर से सराइखेत के लिए रवाना हुई। इसमें 18 यात्री बैठे थे। रामनगर रानीखेत राष्टï्रीय राजमार्ग पर मरचूला के पास डोटियाल मौलेखाल सराइखेत आंतरिक रोड पर वाहन दोपहर करीब दो बजे डोटियाल चौराहा पर पहुंची। चालक परिचालक के साथ ही सभी सवारियों ने आधा घंटा दिन का भोजन किया। इसके बाद करीब सौ मीटर दूर डोटियाल क्षेत्र में चलती बस का अचानक कमानी पट्टा टूट गया। इससे चालक वाहन पर संतुलन खो बैठा। लाख कोशिशों के बावजूद वह नियंत्रण न कर सका। नतीजतन यात्रियों से भरी बस सड़क किनारे पैराफिट को ध्वस्त कर सीधे खाई की ओर जा गिरी। लगभग 40 मीटर गहरे में वाहन चीड़ के पेड़ से टकरा कर खाई तक पहुंचने से पहले ही अटक गया। इस बीच यात्रियों में मदद के लिए चीखपुकार मचती रही। हादसे का पता लगते ही डोटियाल चौराहा कस्बे के लोग दुकानें छोड़ मौके की ओर दौड़ पड़े। बारिश के बीच जान जोखिम में डाल सभी खाई में उतरे। दुर्घनाग्रस्त वाहन में फंसे एक एक यात्री को सकुशल बाहर निकाल सड़क पहुंचाया गया। इस बीच सीएचसी देवायल से आपातकालीन 108 सेवा भी पहुंची लेकिन मामूली रूप से चोटिल बस यात्रियों को उनके गंतव्य को रवाना किया जा चुका था। थानाध्यक्ष सल्ट गोविंद सिंह मेहता ने बताया कि डोटियाल चौराहा से कुछ दूरी पर बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। कमानी पट्टा टूटने से हादसा हुआ। सूचना मिलते ही पुलिस कर्मी मौके पर पहुंच गए थे। यात्रियों को हल्की चोटें आई थी। सभी सकुशल अपने अपने घर पहुंच गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.