दूध में मिलावट का तीस सेकेंड में पता चलेगा, कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य का लंढौरा में जोरदार स्वागत

लंढ़ौरा । पशुपालन एवं दुग्ध विकास मंत्री रेखा आर्य ने शिकारपुर स्थित दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ में वित्त पोषित राष्ट्रीय डेयरी विकास योजना के तहत मिल्क एनेलाइजर मशीन का लोकार्पण किया। यह मशीन पूरी तरह से विदेशी तकनीकी से बनी है। जिसे डेनमार्क से मंगाया गया है। उक्त मशीन तीस सेकेंड में दूध की मिलावट का पता लगाया जा सकता है। कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य ने शिकारपुर स्थित आंचल डेयरी की प्रयोगशाला में स्थापित एफटीआईआर तकनीक पर आधारित मिल्क एनालाइजर मशीन का लोकार्पण किया। इस दौरान कैबिनेट मंत्री ने कहा कि यह मशीन पूरी तरह विदेशी तकनीकी से बनी है। उक्त मशीन से वसा ,प्रोटीन, न्यूटिलाइजर, वसा अप मिश्रण का पता तीस सेकिंड में लगाया जा सकता है। दूध की मिलावट को आसानी पकड़ा जा सकता है। आज उक्त मशीन को दुग्ध संघ हरिद्वार को समर्पित कर दिया गया है। उन्होंने कहा हमारी कोशिश है कि डेयरी व्यवसाय सहकारी समितियों को बढ़ावा दिया जाए। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उत्तराखंड सरकार युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। कैबिनेट की पहली बैठक में सीएम ने युवाओं को रोजगार देने के संदर्भ में मंथन किया है। उन्होंने कहा कि एक अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक अनाथ हुए बच्चों को वात्सल्य योजना से जोड़ने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। कहा कि अभी तक 2000 अनाथ बच्चों को चिन्हित किया गया है। इनमें अभी तक 50 बच्चे कोविड-19 से अनाथ हुए है। इस संदर्भ में 500 आवेदन प्राप्त हो चुके है। सभी जिला अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए है कि कोविड से अनाथ हुए बच्चों को चिन्हित करें। इसे मौके पर विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडे, चेयरमैन डॉ. रणवीर सिंह, प्रधान प्रबन्धक जीएस मौर्य, अनिता, पीयूष आर्य, जीवन सिंह, सहदेव पुंडीर, चौकी प्रभारी नितेश शर्मा, इस्लाम आदि मौजूद रहे। यहां के बाद कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य का रंग महल में स्वागत हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.