हरिद्वार में औद्योगिक आपदाओं की संवेदनशीलता के दृष्टिगत रासायनिक आपदा विषय की तैयारियों की समीक्षा, जिलाधिकारी ने कहा समन्वय बनाकर कार्य करेंगे यूनिटों के अधिकारी

हरिद्वार । राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण भारत सरकार के सहयोग से राज्य आपदा प्रबन्धन एवं पुनर्वास विभाग, उत्तराखण्ड शासन द्वारा जनपद हरिद्वार में औद्योगिक आपदाओं की संवेदनशीलता के दृष्टिगत रासायनिक आपदा विषय पर माॅक अभ्यास के पूर्व आज कलेक्ट्रेट सभागार रोशनाबाद में जिलाधिकारी हरिद्वार सी. रविशंकर एवं एसएसपी हरिद्वार सैंथिल अबुदई कृष्णराज एस. ने तैयारियों की समीक्षा की। जिलाधिकारी ने कहा कि समस्त यूनिटों के अधिकारी एक दूसरे से मोबाइल के जरिए सम्पर्क में रहेंगे तथा समन्वय बनाकर कार्य करेंगे। उन्होंने समस्त यूनिटों के अधिकारियों से माॅक ड्रिल की तैयारियों की जानकारी ली तथा यूनिटों को आवश्यक सामग्री आवश्यकतानुसार उपलब्ध रखने के निर्देश दिये तथा अस्पतालों के चयन के विषय में जानकारी चिकित्सा यूनिट से ली। उन्होंने कहा कि सभी यूनिटों के अधिकारी स्टेजिंग एरिया में एकत्रित होंगे तथा सायरन बजने के उपरांत कंट्रोल रूम से सम्पर्क स्थापित करेंगे तथा परिस्थितिनुसार अपनी-अपनी यूनिटों को आपदा प्रभावित स्थलों पर भेजेंगे। जिलाधिकारी ने विभिन्न अग्नि दुर्घटनाओं को रोकने के लिए किये जाने वाले उपायों पर भी चर्चा की। आपदा प्रबन्धन अधिकारी श्रीमती मीरा कैन्तुरा ने बताया कि रासायनिक आपदा माॅक ड्रिल के लिए 14 इंडस्ट्रियों का चयन किया गया है। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी हरिद्वार विनीत तोमर, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के.के. मिश्र, अपर जिलाधिकारी प्रशासन बी.के. मिश्र सहित समस्त जनपद स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *