नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे मुख्यमंत्री: आप

हरिद्वार । हाईकोर्ट ने मंगलवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत पर आरोपों के मामले में सीबीआई जांच के आदेश दिए । आम आदमी पार्टी ने एक प्रेस वार्ता के दौरान आप की प्रवक्ता हेमा भण्डारी ने कहा,देवभूमि उत्तराखंड के इतिहास में यह अपने आप में पहला मामला है। जहां कोर्ट ने किसी मुख्यमंत्री के खिलाफ सीबीआई जांच के आदेश दिए। आप प्रवक्ता ने कहा, कोर्ट द्वारा सीबीआई जांच के आदेश के बाद ,मुख्यमंत्री को नैतिकता और पद की गरिमा को देखते हुए तत्काल अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए और सीबीआई जांच में पूरा सहयोग करना चाहिए । मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत जब से मुख्यमंत्री बने तब से लगातार आरोपो से घिरे है। उनके खुद के विधायक उनके खिलाफ बयानबाजी कर रहे है। कोर्ट ने एक पत्रकार की याचिका पर मुख्यमंत्री पर लगाए गए आरोपों के आधार पर सीबीआई को एफ आई आर दर्ज करने के भी आदेश दिए हैं। पत्रकार की पैरा 8 को आधार बनाते हुए कोर्ट ने सीबीआई जांच के लिए कहा। सेवानिर्वित प्रोफेसर हरेंद्र सिंह रावत ने देहरादून में एक पत्रकार के खिलाफ ब्लैकमेलिंग सहित कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था।जिसमें राजद्रोह का मामला भी शामिल था। हरेंद्र रावत ने अपने मुकदमे में एक वीडियो का हवाला दिया था जिसमें झारखंड के निवासी अमृतेश चौहान नाम के व्यक्ति को गौ सेवा आयोग का अध्यक्ष बनाने के नाम पर घूस की राशि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को भेजने की बात कही गई थी। वहीं उमेश कुमार ने इस मामले से जुड़ी 20 सीडी कोर्ट को सौंप कर सीबीआई जांच और प्राथमिकी रद्द करने की मांग की थी। अब कोर्ट द्वारा, मुख्यमंत्री के खिलाफ सीबीआई जांच देने पर ये मामला अब सीबीआई जांच में चला गया।
आप पार्टी का यह मानना है की जीरो टॉलरेंस की बात करने वाले मुख्यमंत्री रावत पर खुद भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं और कोर्ट के सीबीआई जांच के आदेशों के बाद मामला और भी गंभीर हो गया इसलिए मुख्यमंत्री अपने पद से तुरंत इस्तीफा दे। जिस तरह से आज राज्य सरकार ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला किया है राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट जाने के लिये स्वतंत्र है परन्तु मुख्यमंत्री पर लगे आरोप निराधार है तो उन्हें जांच का सामना करना चाहिए जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा परन्तु जिस तरह सीबीआई जांच के आदेश के बाद राज्य सरकार तुरंत माननीय सर्वोच्च न्यायालय जा रही है इससे राज्य सरकार की हताशा और निराशा का पता चलता है।अगर मुख्यमंत्री अपने पद से इस्तीफा नहीं देते तो आम आदमी पार्टी सड़कों पर उतर कर सरकार और मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *