मोदी सरकार ने आम बजट 2020-21 में आयकर की दरों में कटौती कर करदाताओं को दिया तोहफा, शहर विधायक प्रदीप बत्रा ने मोदी सरकार के बजट को सराहा

रुड़की । शहर विधायक प्रदीप बत्रा ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने आम बजट 2020-21 में आयकर की दरों में कटौती करके करदाताओं को तोहफा दिया है। पांच लाख रुपये से 7.50 लाख रुपये तक की आय वाले करदाताओं को अब 20 फीसदी के बजाए 10 फीसदी आयकर देना होगा। मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को लोकसभा में आम बजट पेश करते हुए 15 लाख रुपये तक की आय वाले करदाताओं के लिए आयकर की दरों में पांच से 10 फीसदी तक की कटौती का ऐलान किया।नई कटौती के बाद अब 7.50 लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक की आय कमाने वाले करदाताओं को 15 फीसदी आयकर देना होगा जबकि पहले उनको 20 फीसदी आयकर देना चुकाना होता था। वहीं, 10 लाख रुपये से लेकर 12.50 लाख रुपये तक की आय पर आयकर की दर 30 फीसदी से घटाकर 20 फीसदी कर दी गई है। 12.50 लाख रुपये से लेकर 15 लाख रुपये तक की आय पर आयकर की दर 30 फीसदी से घटाकर 25 फीसदी कर दी गई है। हालांकि 15 लाख रुपये से ऊपर की आय वाले आयकर दाताओं के लिए आयकर की दर पूर्ववत 30 फीसदी रखी गई है। शहर विधायक प्रदीप बत्रा ने कहा है कि बजट से आर्थिक विकास में तेजी आएगी। रोजगार सृजन होगा। बजट में 100 लाख करोड़ के छह हजार प्रोजेक्ट को मंजूरी मिली है। इससे रोजगार का बड़े स्तर पर सृजन होगा। फर्नीचर पर कस्टम ड्यूटी बड़ाई गई है, इससे घरेलू उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। लघु और मध्यम उद्योग के बजट में 7512 करोड़ बढ़ाया गया है। उन्होंने कहा कि युवाशक्ति को बढ़ावा देने के लिए युवा पेशेवरों को मौका दिया जाएगा। नेशनल लॉजिस्टिक पॉलिसी बनाई जाएगी और इस मद में 91 हजार करोड़ रुपये की बढ़ोतरी की गई है। शहर विधायक प्रदीप बत्रा बोले, कुल मिलाकर बजट रोजगारन्मुखी, निर्यात बढ़ाने वाला और विकास बढ़ाने वाला है। इस बजट से 100 लाख करोड़ रुपए का निवेश होगा, जिससे रोजगार बढ़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *