निर्वाचक नामावली पर 5 जुलाई तक किया जा सकता है दावा और आपत्ति, नामावली पर आपत्ति और दावे की सुनवाई के दौरान बरती जाएगी पारदर्शिता: डीपीआरओ

रुड़की । जिला पंचायत राज अधिकारी आरसी त्रिपाठी ने बताया कि तैयार की गई नामावली पर 5 जुलाई तक आपत्ति और दावा किया जा सकता है । इसमें आपत्तियों और नाम जुड़ने के दावे की सुनवाई के दौरान पूरी तरह पारदर्शिता बरती जाएगी। इस संबंध में सभी संबंधित कर्मचारियों को निर्देश जारी किए गए हैं। उन्होंने बताया है कि त्रिस्तरीय पंचायतों की निर्वाचक नामावलियों के विस्तृत पुनरीक्षण का कार्य सम्पन्न संपन्न हो जाने के बाद अपर जिलाधिकारी (प्रशासन)/निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी (पंचायत) हरिद्वार, बी0के0 मिश्रा की ओर से जारी विज्ञप्ति में अवगत करा दिया गया है कि राज्य निर्वाचन आयोग, उत्तराखण्ड की संशोधित अधिसूचना संख्या-86 दिनांक 22 जून 2021 एवं कार्यालय अपर जिलाधिकारी (प्रशासन)/निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी (पंचायत) हरिद्वार की सूचना संख्या 100 दिनांक 23.06.2021 के क्रम में त्रिस्तरीय पंचायतों की निर्वाचक नामावलियों के विस्तृत पुनरीक्षण का कार्य सम्पन्न होने के उपरान्त निर्वाचक नामावलियों का आलेख्य प्रकाशन दिनांक 28 जुलाई को सम्बन्धित सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी एवं खण्ड विकास अधिकारी एवं निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के कार्यालय एवं विकास खण्ड कार्यालय में किया जा चुका है। निर्वाचक नामावलियों का निरीक्षण उक्त अवधि में सम्बन्धित कार्यालयों में किया जा सकता है।
इन निर्वाचक नामावलियों की किसी प्रविष्टि पर आपत्ति अथवा छूटे हुए नामों को सम्मिलित करने तथा अशुद्ध नामों को शुद्ध करने हेतु दावे निर्धारित प्रपत्र-2, 3 या 4 पर दिनांक 29.06.2021 से 05.07.2021 तक या उससे पूर्व उप जिलाधिकारी/सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी या खण्ड विकास अधिकारी/नोडल अधिकारी को प्रस्तुत किये जा सकते हैं, जो प्राप्त दावे एवं आपत्तियों की सुनवाई परीक्षण कर दिनांक 06.07.2021 से 12.07.2021 तक इसका निस्तारण करेंगे। निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी/सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के विनिश्चय के विरूद्ध जिला मजिस्ट्रेट हरिद्वार को अपील की जा सकती है। जिला पंचायत राज अधिकारी आरसी त्रिपाठी ने बताया है कि सभी ग्राम पंचायतों में नामावली जारी होने के बाद से ही खासा उत्साह बना हुआ है। सभी के द्वारा नामावली को चेक किया जा रहा है और किसी का नाम यदि किन्ही कारणों से छूट गया है तो निश्चित रूप से उसका दावा पेश होते ही उस पर पुनः विचार किया जाएगा। उन्होंने माना है कि आज सभी ब्लॉक कार्यालय पर खासी हलचल रही। चुनाव प्रक्रिया एक तरह से शुरू हो गई है क्योंकि नामावली प्रारंभिक प्रक्रिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.