डोईवाला से चुनाव लड़ेंगे सीएम तीरथ सिंह रावत, त्रिवेंद्र सिंह रावत पौड़ी गढ़वाल से पहुंचेंगे संसद

देहरादून । वैसे तो नए सीएम तीरथ सिंह रावत के विधानसभा चुनाव लड़ने पर तमाम अटकलें लगाई जा रहे हैं । लेकिन यह बात सामने आई है कि तीरथ सिंह रावत डोईवाला से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे । उनके लिए निवर्तमान सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत यह सीट खाली करेंगे। जबकि त्रिवेंद्र सिंह रावत पौड़ी गढ़वाल से लोकसभा चुनाव लड़कर संसद पहुंचेंगे। जबकि आज शपथ ग्रहण समारोह में शामिल रहे भाजपा नेता और कार्यकर्ता इस सवाल का जवाब तलाशते देखे गए है कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत विधानसभा के विधिवत सदस्य किस विधानसभा सीट से बनेंगे, ये आने वाले समय में तय होगा। हालांकि संभावना यही जताई जा रही है कि पौड़ी की चौबट्टाखाल या देहरादून की डोईवाला सीट से वे विधानसभा का चुनाव लड़ सकते हैं। उनके स्थान पर गढ़वाल संसदीय सीट से चुनाव लड़ने का जिम्मा सतपाल महाराज या त्रिवेंद्र सिंह रावत को मिल सकता है। तीरथ रावत पूर्व में भी चौबट्टाखाल विधानसभा सीट से चुनाव जीत चुके हैं। वर्ष 2017 में उनके स्थान पर सतपाल महाराज को चौबट्टाखाल सीट से चुनाव लड़ाया गया। तब तीरथ रावत को राष्ट्रीय सचिव की जिम्मेदारी देकर मनाया गया। चौबट्टाखाल उनकी परंम्परागत सीट रही है। ऐसे में उनके यहां से चुनाव लड़ कर विधानसभा में जाने की भी संभावना जताई जा रही है। एक दूसरा विकल्प डोईवाला विधानसभा सीट से भी चुनाव लड़ने का है। यहां से विधायक निवर्तमान सीएम त्रिवेंद्र रावत को गढ़वाल संसदीय सीट का चुनाव लड़ा कर इस सीट से सांसद बना कर भेजा जा सकता है।विधानसभा सीट खाली होने पर तीरथ रावत इस सीट से चुनाव लड़ विधानसभा पहुंच सकते हैं। हालांकि विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने का भी रहेगा। विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के निधन के बाद सल्ट सीट खाली है। इस सीट पर उपचुनाव भी जल्द होना है। ऐसे में इस सीट से भी चुनाव लड़ तीरथ रावत विधानसभा आ सकते हैं। क्योंकि चौबट्टाखाल विधानसभा सीट का एक हिस्सा सल्ट से भी सटा हुआ है। सल्ट से सटा हुआ रामनगर क्षेत्र भी गढ़वाल संसदीय सीट का हिस्सा रहा है। वहीं दूसरी ओर सतपाल महाराज ने चौबट्टाखाल विधानसभा सीट खाली करने और पौड़ी से लोकसभा चुनाव लड़ने की बात को सिरे से खारिज किया। उन्होंने स्पष्ट कहा कि फिलहाल उनका ऐसा कोई इरादा नहीं है। उन्होंने प्रदेश के नये मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को शुभकामनाएं भी दीं। सतपाल महाराज ने कहा कि उनके विषय में सोशल मीडिया में प्रचारित किया जा रहा है कि मैं चौबट्टाखाल विधानसभा सीट छोड़ कर पौड़ी लोकसभा से चुनाव लडूंगा, जो कि सरासर गलत और आधारहीन हैं। मैं ऐसी सभी खबरों का खंडन करता हूं। उन्होंने इन खबरों को को मनगढ़न्त और औचित्यहीन बताया। स्पष्ट किया कि चौबट्टाखाल की जनता का अपार स्नेह और प्यार उन्हें निरन्तर मिलता रहा है और आगे भी यूं ही मिलता रहेगा। इसलिए चौबट्टाखाल विधानसभा सीट को छोड़ने का प्रश्न ही पैदा नहीं होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *