शहरी विकास मंत्री के घर के बाहर धरना दे रहे कांग्रेसियों और पुलिस में धक्का-मुक्की, सीओ और दो कांग्रेसियों को आई चोट

हरिद्वार । शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक की कॉलोनी के बाहर धरना देने पहुंचे कांग्रेसियों और पुलिस में तीखी नोकझोंक और धक्कामुक्की हुई। धक्कामुक्की में सीओ और दो कांग्रेसियों के चोट लग गई। सीओ सिटी अभय सिंह के हाथों में कांग्रेसियों के नाखून लग गए। जबकि कांग्रेसी नेता राजीव चौधरी और महिला कांग्रेस की महानगर अध्यक्ष विमला चौहान को हल्की चोटें लगी हैं। कांग्रेसियों ने दावा किया है कि राजीव चौधरी के पैर और विमला पांडे के हाथ में चोट लगी है। उधर पुलिस ने धरना शुरू करने से पहले ही कुछ कांग्रेसियों को हिरासत में ले लिया। पुलिस कांग्रेसियों को बामुश्किल पुलिस वैन में भर रोशनाबाद ले गई। रोशनाबाद में भी कांग्रेसियों ने धरना दिया। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक के खिलाफ सोमवार को युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं का खन्ना नगर के बाहर सुबह 11 बजे से एक दिवसीय धरना प्रदर्शन प्रस्तावित था। इसके लिए कांग्रेसियों ने टेंट भी लगवाया था, लेकिन सुबह 9 बजे पहुंची पुलिस ने धरना शुरू होने से पहले ही टेंट उखाड़ दिया। इससे नाराज हुए कांग्रेसियों ने दूसरी जगह धरना देना चाहा, लेकिन जब कांग्रेसी नहीं माने तो पुलिस ने पहले उन्हें रोकना चाहा। जिससे भड़के कांग्रेसियों ने पुलिस और शहरी विकास मंत्री के खिलाफ नारेबाजी और पर्चे उड़ाने शुरू कर दिये। हंगामा बढ़ता देख सीओ सिटी अभय सिंह के नेतृत्व में पुलिस ने एक-एक कर प्रदर्शनकारियों को जबरन वैन में भरा और मौके से लेकर निकल गई। हिरासत में लिये सभी कांग्रेसियों को पुलिस लाइन रोशनाबाद ले जाया गया। जहां उन्हे मुचलके पर छोड़ने की बात की गई जिसका सभी कांग्रेसियों ने विरोध किया। कांग्रेसियों ने मुचलका भरने के बजाय जेल भेजने की मांग की जिसके बाद पुलिस ने सभी को हिदायत देकर रिहा कर दिया। कांग्रेसियों ने पुलिस लाइन में भी धरना दिया। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे यूथ कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय सचिव राम विशाल देव ने कहा कि हम शहर की जनता की तरफ से शांतिपूर्वक धरना देने शहरी विकास मंत्री के आवास के बाहर गये थे, धरने के माध्यम से हमारे कुछ सवाल थे लेकिन हमें धरना नहीं देने दिया गया, धरना देना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है। लेकिन मंत्री के पास हमारे सवालों का कोई जवाब नहीं है। पुलिस का इस तरह दुरुपयोग करना बिल्कुल गलत है। पुलिस की इस कार्रवाई की युवा कांग्रेस निंदा करती है। हिरासत में लिये गये लोगों में मुख्य रूप से यूथ कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर, जिला उपाध्यक्ष रवि बहादुर, पूर्व जिलाध्यक्ष राजीव चौधरी, महिला कांग्रेस अध्यक्ष विमला पांडे, अशोक शर्मा, नितिन तेश्वर, सुमित भाटिया, नकुल माहेश्वरी, अनिल भास्कर, दीपक टंडन, नावेज अंसारी, हरद्वारी लाल, विशाल खेरवाल, महेश प्रताप राणा, अशोक उपाध्याय, वसीम सलमानी शामिल थे। उधर सीओ सिटी अभय सिंह का कहना है कि प्रदर्शनकारियों के पास अनुमति नहीं थी। जिस कारण उनको हिरासत में लिया गया। भाग खड़े हुए कुछ कांग्रेसीधरना स्थल से जैसे ही गिरफ्तारी शुरू हुई कुछ कांग्रेसी मौके से भाग खड़े हुए। इनमें वे कांग्र्रेसी भी शामिल थे जो कुछ देर पहले तक बढ़-चढ़कर पर्चें बांट रहे थे। कांग्रेसी नेता नहीं पहुंचे धरनास्थलयुवक कांग्रेस ने सभी कांग्रेसियों से धरने में शामिल होने की अपील की थी, लेकिन हैरानी की बात यह रही कि बड़े कांग्रेसियों को तो छोड़ो कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष तक ने मौके पर आने की जरूरत नहीं समझी।बंद किया गया खन्नानगर जाने का रास्तायुवा कांग्रेस के धरना, प्रदर्शन को देखते हुए एतिहात के तौर पर पुलिस ने खन्नानगर जाने के रास्ते को ही बंद कर दिया। कॉलोनी के गेट पर पुलिस ने बैरिकेडिंग लगा दी जिससे मोहल्ले वालों को भी परेशानी झेलनी पड़ी। बाद में पहुंच किया प्रदर्शन हिरासत में लेने के करीब एक घंटे बाद कुछ कांग्रेसी खन्ना नगर के बाहर पहुंचे। जहां उन्होंने कुछ देर के लिए एक प्रदर्शन किया और प्रदर्शन करते-करते खन्ना नगर से चंद्राचार्य चौक तक रैली निकाल कर पहुंचे। प्रदर्शन करने वालों में नईम कुरैशी, पुरुषोत्तम शर्मा, राजबीर सिंह चौहान, संदीप गौड़, गुलबाहर, चंद्रशेखर चौधरी, सुनील सिंह आदि शामिल रहे। क्या कहते हैं भाजपा जिलाध्यक्षभाजपा के जिलाध्यक्ष डॉ. जयपाल सिंह चौहान ने कहा कि उन्हे इस प्रदर्शन के संबंध में कोई जानकारी ही नहीं है। फिलहाल वे शहर से बाहर हैं जब वे वापस आयेंगे तब कुछ कह पायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *