सुप्रीम कोर्ट में कोरोना की दस्तक, सर्वोच्‍च अदालत के चार न्यायाधीश और पांच फीसद कर्मचारी हुए संक्रमित

नई दिल्ली । राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। समाचार एजेंसी पीटीआइ के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के चार न्यायाधीश और लगभग पांच फीसद कर्मचारी कोविड-19 से संक्रमित हो गए हैं। एक अध‍िकारी ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के 32 न्यायाधीशों में से कम से कम चार न्यायाधीश कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। यही नहीं सर्वोच्‍च अदालत के लगभग तीन हजार कर्मचारियों में से 150 कोविड की चपेट में आ गए हैं। पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट के परिसर में कोविड-19 जांच की सुविधा स्थापित की गई है। अधिकारी ने बताया कि शीर्ष अदालत के परिसर में यह सुविधा सोमवार से शनिवार तक खुली रहेगी। अदालत परिसर में प्रवेश करने वाले (रजिस्ट्री कर्मचारी, समन्वय एजेंसियों के कर्मचारी, अधिवक्ता और उनके कर्मचारी आदि) लोग लक्षण दिखने पर इस सुविधा में कोविड जांच करा सकते हैं। उल्‍लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट ने दो जनवरी को बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए तीन जनवरी से दो सप्ताह के लिए सभी सुनवाइयां डिजिटल तरीके से करने का फैसला किया था। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट वर्चुअल मध्‍यम से सुनवाई किए जाने पर जोर देता आया है। वहीं बजट सत्र से पहले संसद में काम करने वाले कम से कम 400 कर्मचारी और सुरक्षाकर्मी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक छह और सात जनवरी के दरम्यान संसद में काम करने वाले कर्मचारियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। मौजूदा वक्‍त में दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट दो प्रतिशत बढ़कर 19.6 हो गई है। दिल्ली में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 1,526,979 हो गए हैं। देश में कोरोना की तेज रफ्तार को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार शाम एक उच्च स्तरीय बैठक की। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में कोविड के चलते पैदा हुई स्थितियों की समीक्षा की गई। वीडियो कांफ्रेस के जरिए हुई इस बैठक में केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मनसुख मंडाविया, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय गृह सचिव, कैबिनेट सचिव के साथ साथ कोविड टास्‍क फोर्स के उच्‍चाधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.