पार्षदों ने निगम अफसरों के खिलाफ खोला मोर्चा, उपेक्षा का लगाया आरोप, कहा वार्ड की समस्याओं को लेकर अधिकारियों के पास पहुंचते तो अधिकारी नहीं करते समाधान

रुड़की । पार्षदों ने नगर निगम के अफसरों पर उपेक्षा का आरोप लगाकर उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया। पार्षद अफसरों के घेराव के लिए नगर निगम पहुंचे लेकिन उनके नहीं मिलने पर मेयर को अपनी समस्याएं बताईं। मेयर ने समस्याओं का समाधान कराने का आश्वासन दिया। पार्षदों का कहना है कि वह वार्ड की समस्याओं को लेकर अधिकारियों के पास पहुंचते हैं लेकिन अधिकारी उनका समाधान नहीं करते। खफा पार्षद एकत्र होकर नगर निगम पहुंचे लेकिन बैठक में रहने के कारण अधिकारी नहीं पहुंच पाए। इसके बाद पार्षदों ने मेयर गौरव गोयल से मिलकर अपनी समस्याएं बताई। मेयर गौरव गोयल ने सभी पार्षदों की समस्या को सुनकर इस सम्बंध में उचित कदम उठाने की बात कही। मेयर का कहना है कि यह जनप्रतिनिधियों का ही नहीं बल्कि उस जनता का भी अपमान है जिन्होंने मेयर और पार्षदों को चुना है। नगर निगम की बैठक आठ फरवरी को प्रस्तावित है। इससे पहले बैठक कराने को लेकर भी पार्षदों ने मोर्चाबंदी की थी। अब पार्षदों के तेवर के बाद निगम की सियासत भी गर्मा गई है। निगम में कई निर्दलीय पार्षद भी जीतकर आए हैं। मेयर भी निर्दलीय जीते हैं। इस अवसर पर पार्षद शक्ति राणा, पार्षद नितिन त्यागी, पार्षद आशीष अग्रवाल, पार्षद चंद्रप्रकाश बाटा, पार्षद हेमा बिष्ट, पार्षद धीराज सिंह, पार्षद अंकित चौधरी, पार्षद रविंद्र खन्ना, पार्षद अनूप राणा, पार्षद मयंक पाल, पार्षद चारुचंद, पार्षद मनोज कुमार,पार्षद वीरेंद्र गुप्ता, जेपी शर्मा, रमेश जोशी, हरीश शर्मा आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.