धनतेरस पर शिक्षानगरी के बाजारों में उमड़ी भीड़, खूब हुईं धन की वर्षा, लोगों ने बर्तन, सोने-चांदी के सिक्के, वाहन, इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद की जमकर की खरीदारी

रुड़की । धनतेरस पर शिक्षानगरी के बाजारों में खूब रौनक देखने को मिली। परंपरा का निर्वाह करते हुए लोगों ने बर्तन, सोने-चांदी के सिक्के, वाहन, इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद आदि की जमकर खरीदारी की। कुछ उत्पादों के बाजारों में आर्थिक सुस्ती और आनलाइन शॉपिग का विपरीत असर देखने को मिला। कारोबारियों के अनुसार गत वर्ष की तुलना में इस साल धनतेरस पर कारोबार में 15-20 फीसद की फायदा देखने को मिला है। वहीं एक अनुमान के अनुसार धनतेरस पर शहर में 45-45 करोड़ के कारोबार होने का अनुमान है। शहर के सिविल लाइंस, मेन बाजार, बीटीगंज, रामनगर, आजाद नगर, बीएसएम चौक के अलावा छोटे बाजारों में भी मंगलवार को दुकानों के शटर खुलने के कुछ देर बाद से ही ग्राहकों ने धनतेरस की खरीदारी के लिए पहुंचना शुरू कर दिया। धनतेरस पर बर्तनों एवं सोने-चांदी के सिक्कों एवं आभूषणों को खरीदने की परंपरा है। ऐसे में शहरवासियों ने परंपरा का निर्वाह करने के साथ ही धनतेरस पर जरुरत का सामान खरीदा। ग्राहकों की सबसे अधिक भीड़ बर्तनों की दुकानों पर देखने को मिली। लोगों ने बर्तनों में कटोरी, चम्मच, किचन सेट, कढ़ाई आदि सामान की खरीदारी की। वहीं आभूषणों में सोने एवं चांदी के सिक्के, मां लक्ष्मी एवं भगवान गणेश की मूर्तियां, चेन, अंगूठी सहित अन्य गहने खरीदे। इस वर्ष लोगों की ओर से गहनों की बजाए सोने एवं चांदी के सिक्कों की अधिक मांग की गई। इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों में कंप्यूटर, लैपटॉप, एलसीडी, गीजर, मोबाइल, माइक्रोवेब आदि उत्पाद खरीदे। वहीं सजावटी सामान में झूमर, झालर, रंग-बिरंगे फूल, सीनरी, मूर्तियों के अलावा घर को जगमग करने के लिए फैंसी दीये, मोमबत्ती और रंग-बिरंगी लड़ियों की खरीददारी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.