विकास कार्यों में गति लाएं अधिकारी, फरवरी अंत तक पूरा करें काम, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने की विकास कार्यों की समीक्षा, दिए निर्देश

देहरादून । सर्किट हाउस सभागार में बैठक लेते हुये शहरीय विकास एवं जनपद प्रभारी मंत्री मदन कौशिक ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि योजनाओं में प्राप्त धनराशि को कार्याे मे गति लाकर शतप्रतिशत व्यय करना सुनिश्चित करें।उन्होने जिला योजना के अन्तर्गत अनुमोदित परिव्यय 42.47 करोड के सापेक्ष विभागों को शतप्रतिशत धनराशि अवमुक्त कर दी गई है। जिसमे से विभागों द्वारा अभी तक 25.62 करोड़ व्यय किया गया है जो अवमुक्त धनराशि का 60.33 प्रतिशत है। उन्होने कहा कि सभी विभागीय अधिकारी अवशेष धनराशि को फरवरी अन्त तक कार्यो मे गति लाकर व्यय करना सुनिश्चित करें। उन्होने जिला योजना के साथ ही राज्य योजना, केन्द्र पोषित एवं वाहृय सहायतित योजनाओं की समीक्षा की। राज्य योजना के अन्तर्गत विभागों को 41840.93 लाख के सापेक्ष 23008.31 लाख अवमुक्त हुआ है जिसके सापेक्ष विभागों द्वारा 15999.79 लाख व्यय किया गया जो 69.54 लाख है। इसी तरह केन्द्र पोषित सेक्टर में 71546.16 लाख के सापेक्ष 16783.68 लाख अवमुक्त हुआ है, जिसके सापेक्ष विभागों द्वारा 11192.45 लाख व्यय किया गया है जो अवमुक्त परिव्यय का 66.69 प्रतिशत है। वाहृय सहायतित योजनाओं में 4088.24 लाख के सापेक्ष 299.29 लाख अवमुक्त के सापेक्ष विभागोें द्वारा 80.44 प्रतिशत व्यय किया गया है जो अवमुक्त धनराशि का 26.88 प्रतिशत है। जिस पर प्रभारी मंत्री कौशिक ने अधिकारियोें को निर्देश दिये कि वे कार्यो मे युद्व स्तर पर गति लाते हुये व्यय करना सुनिश्चित करें। प्रभारी मंत्री कौशिक ने कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियोें से समन्वय बनाते हुये विकास कार्यो को गति दें तथा कार्यो की सूचना एवं जानकारी समय-समय पर जनप्रतिनिधियो को भी दी जाए। उन्होने कहा कि महिलाओं को सशक्त करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों को दक्ष करते हुये उनके उत्पादों के विपणन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होने स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों के विक्रय हेतु 70 लाख रूपये का आउटलैट बनाने हेतु दिये। उन्होने कहा कि जनपद में स्वयं सहायता समूहों यूनिक उत्पाद बनाने हेतु प्रेरित एवं प्रशिक्षित करें जो पर्यटकोें को अपनी ओर आकर्षित करे और उसे खरीद कर ले जाए। उन्होने कहा कि स्वयं सहायता समूहों के यूनिक उत्पादांे हेतु कुमायू मण्डल विकास निगम ,होटलों व क्षेत्रीय बाजारों में भी आउटलैट खोले जांए ताकि स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों को बाजार मिल सके व उनके उत्पादों को उचित मूल्य मिलकर उनकी आर्थिकी मजबूत हो सके। कौशिक ने जनपद के पर्यटन क्षेत्रों के विकास हेतु जिला विकास प्राधिकरण से भी पर्यटन योजनायें बनाने के निर्देश जिलाधिकारी को दिये। उन्होने बीस सूत्रीय कार्यो की समीक्षा करते हुये सी व बी श्रेणी वाले विभागों को प्राप्त लक्ष्योें को पूर्ण कर ए श्रेणी मे लाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी सविन बंसल ने सभी अधिकारियो को निर्देश दिये कि वे विकास कार्यो मे गति लाकर प्राप्त धनराशि को 15 मार्च तक शतप्रतिशत व्यय करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा बैठक मे प्रभारी मंत्री द्वारा दिये गये निर्देशों का अनुपालन करते हुये क्षेत्रों मे किये जा रहे विकास योजनाओ ंकी सूचनायें क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को भी देना सुनिश्चित करें। बैठक में अध्यक्ष जिला पंचायत बेला तोलिया, अध्यक्ष उत्तराखण्ड कृषि मण्डी परिषद गजराज बिष्ट,उपाध्यक्ष अल्पसंख्यक आयोग मजहर नईम नवाब, उपाध्यक्ष/दर्जा राज्यमंत्री रेनु अधिकारी, प्रकाश हरर्बोला, अजय राजौर, अध्यक्ष जि. भाजपा प्रदीप बिष्ट,विनीत अग्रवाल,प्रमोद तोलिया,प्रताप बोरा, ललित आर्य, नवीन भटट, मनोज भटट, मुकेश बोरा, विपिन पाण्डे, रघुवर जोशी के अलावा मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, प्रभागीय वनाधिकारी टीआर बिजु लाल, अर्थसंख्याधिकारी एलएम जोशी, एपीडी संगीता आर्या, के अलावा सम्बन्धित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *