किसानों को और अधिक ऋण वितरित किया जाएगा, डीसीबी बोर्ड की बैठक में कई निर्णय लिए गए

रुड़की । जिला सहकारी बैंक बोर्ड की बैठक में बैंकों का डिपाजिट बढ़ाने सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों व अन्य लोगों को अधिक से अधिक ऋण वितरित करने का निर्णय लिया गया। साथ ही नौ फरवरी से शुरू होने वाले सहकारिता मेले की तैयारियों को लेकर भी विचार-विमर्श किया गया। आज सुभाष गंज स्थित बैंक मुख्यालय पर जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी की अध्यक्षता में बोर्ड की बैठक हुई। बैठक में बैंक के विकास संबंधी तमाम बिंदु पर चर्चा हुई। पूर्व में वितरित किए गए ऋण की वसूली पर भी जोर दिया गया। इस दौरान जिला सहकारी बैंक के महाप्रबंधक/ सचिव सी के कमल ने बोर्ड को जानकारी दी कि सहकारिता विभाग के अफसर सहकारिता मेले की तैयारियों में जुटे हुए हैं। मेले का उद्घाटन केंद्रीय कृषि मंत्री और मुख्यमंत्री करेंगे। इसी दिन नई बिल्डिंग का शिलान्यास भी होगा। नई बिल्डिंग के लिए भूमि साउथ सिविल लाइन क्षेत्र में ली जा रही है। नौ फरवरी से ऋषिकुल मैदान पर आयोजित होने वाले दस दिवसीय सहकारिता मेले में छह सौ महिला स्वयं सहायता समूहों को बिना ब्याज के पांच लाख रुपये तक के ऋण उपलब्ध कराए जाएंगे। मेले का उद्घाटन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर करेंगे। मेले में जिला सहकारी बैंक हरिद्वार के 100 साल पूरे होने पर स्वर्ण जयंती समारोह भी मनाया जाएगा। मेले में विभाग की मासिक पत्रिका का विमोचन भी किया जाएगा। मेले में किसानों और सहकारिता से जुड़े लोगों नई योजनाओं के लिए आयोजित गोष्ठियों में विशेषज्ञ जानकारी देंगे। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने बताया कि मेले को भव्य रूप देने की तैयारियां हो रही है। हरिद्वार में मेला इसलिए आयोजित किया जा रहा है क्योंकि जिला मुख्यालय है। सहकारिता विभाग के दो बड़े कार्यक्रम इससे पहले रुड़की में हो चुके हैं। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने मीडिया से बातचीत में बताया कि आज की बोर्ड बैठक में पिछली बैठक की कार्यवाही पुष्टि हुई है। इसके बाद बैंक डेवलपमेंट के संबंध में कई निर्णय लिए गए हैं। किसानों को अधिक से अधिक ऋण वितरित करने के निर्देश अधिकारियों कर्मचारियों को दिए गए। उन्होंने बताया कि 31 मार्च तक करीब सवा दो सौ करोड रूपया वितरित कर दिया जाएगा। इस संबंध में सभी सहकारी समितियों के सचिवों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। उनसे कहा गया है कि किसानों को ऋण वितरित करने में जरा भी कोताही न बरती जाए। प्रत्येक किसान को उसकी जरूरत के मुताबिक रहने दिया जाए। उन्होंने बताया है कि आई सरकारी बैंक की अन्य शाखाओं को निर्देशित किया गया है कि वह है सभी अधिक से अधिक वितरित करें। साथ ही पूर्व में वितरित किए गए ऋण की वसूली में तेजी बरते। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने बताया कि जिला सहकारी बैंक का डिपाजिट लगातार बढ़ रहा है। पुर में जो सदस्य किन्हीं कारणों से निष्क्रिय हो गए थे उन्हें सक्रिय किया जा रहा है। बैंक की मुख्य और अन्य शाखाओं में अधिक से अधिक लोग जोड़े जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि जल्द ही 3 नई शाखाओं के खोले जाने की प्रक्रिया शुरू कराई जाएगी। इसके बाद जिस क्षेत्र से भी नई शाखा के लिए प्रस्ताव आएगा उस पर बोर्ड विचार करेगा। आज की बोर्ड की बैठक में सुशील राठी, सुशील चौधरी, देवेंद्र अग्रवाल ,सुरेंद्र चौधरी आदि निदेशक मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *