डीडीओ कोड बहाली को लेकर आयुर्वेदिक कर्मचारियों और शिक्षकों का धरना 48वें दिन भी जारी रहा, कहा डीडीओ कोड की बहाली के लिए कर्मचारी और शिक्षक एकजुट

हरिद्वार । संयुक्त कर्मचारी संघर्ष समिति ऋषिकुल एवं गुरूकुल राजकीय आयुर्वेदिक कालेज के तत्वाधान में डीडीओ कोड बहाली को लेकर पूर्व निर्धारित आन्दोलन कार्यक्रम के तहत् ऋषिकुल एवं गुरूकुल आयुर्वेदिक कालेजों के कर्मचारियों एवं शिाक्षकों ने महाविद्यालयों में 48वें दिन दो घंटे का कार्य बहिष्कार कर धरना दिया। धरने की अध्यक्षता बीना मठपाल व संचालन मोहित मनोचा ने किया। धरने में कर्मचारियों के साथ शिक्षक भी सम्मिलित हुए। शिक्षक एसोसिएशन संवर्ग से डा. ओ0पी0 सिंह ने कहा कि डीडीओ कोड की बहाली के लिए कर्मचारी और शिक्षक एकजुट हैं। जब तक डीडीओ कोड बहाल नही हो जाता तब तक कर्मचारी तथा शिक्षक पीछे नहीं हटेंगे। लिपिक संवर्ग से अमित सिंह एवं धीरज उपाध्याय ने कहा कि डीडीओ कोड बन्द होने से न्यू पंेशन स्कीम के तहत होने वाली कटौतियंां व जीपीएफ भी समय से जमा नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की हठधर्मिता के कारण 6-6 माह की कटौतियां खातों में जमा नहीं की जा रही है। जिससे कर्मचारियों को धनराशि जमा न होने से आर्थिक नुकसान भी हो रहा है। संयुक्त कर्मचारी संघर्ष समिति के संयोजक सचिव शिवनारायण सिंह, एवं दिनेश लखेड़ा तथा समीर पाण्डेय ने कहा कि लगातार आंदोलन करने बावजूद डीडीओ कोड बहाली को लेकर कर्मचारियों में रोष बढ़ता जा रहा है। उन्होंने बताया कि बुधवार से आंदोलन तेज किया जाएगा। धरना प्रदर्शन करने वालों में शिक्षक संवर्ग से डा.शोभित वाष्र्णेय, डा.ओपी सिंह, डा.संजय त्रिपाठी, डा.अजय गुप्ता, डा.एचसी चैकियाल, डा.हर्षमणि गैरोला, डा. प्रवेश कुमार, डा.ज्ञानप्रकाश सिंह व कर्मचारी संवर्ग से जसपाल सिंह नेगी, राजपाल सिंह पंवार, सुमन त्यागी, सुदामा जोशी, सुधा पाण्डेय, राहुल तिवारी, हरीशचन्द्र गुप्ता, छतरपाल, मनोज पोखरियाल, अजय कुमार विजयपाल सिह, रोहिताश, नितिन कुमार, राकेश, दीपक यादव, दिलबर सिंह सत्कारी, रमेश तिवारी , विनोद, बीना शुक्ला, ज्योति नेगी, दिनेश कुमार, नितिन कुमार, दीपक यादव, कल्लु, विनोद कश्यप, अनिल कुमार, रमेश पंत, मोहित मनोचा, ताजबर सिंह, लक्ष्मण प्रसाद्व वर्मा, अमित सिंह, आशुतोष गेरोला, जगजीत कैन्तुरा, बबलू, अरूण कुमार, आनन्दी शर्मा, कान्ता देवी, आनन्दी शर्मा, कला नेनवाल, शकुन्तला वर्मा, बीना मठपाल, नीता राणा, पूजा पोखरियाल संघ्या रतूडी, पूजा, चन्द्रकला, बाला देवी, बुगली, डोली, कुसुम, बिमला आादि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.