रुड़की और नारसन ब्लॉक क्षेत्र की जिला और क्षेत्र पंचायत सीटों का परिसीमन दोबारा होगा, अनंतिम सूची जारी होने के बाद दोनों ब्लॉक क्षेत्र की आपत्तियां पर सुनवाई होगी

हरिद्वार। नई नगर पंचायतों के गठन के बाद रुड़की और नारसन ब्लॉक क्षेत्र कि जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत सीटों के परिसीमन पर बड़ा प्रभाव पड़ा है। इसी कारण जिला अधिकारी हरिद्वार सी रविशंकर ने दोनों बोला क्षेत्र कीपरिसीमन संबंधी आपत्तियों पर 19 फरवरी को होने वाली सुनवाई स्थगित रखी है। अब दोनों ब्लॉक क्षेत्र की जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत सीटों का नए सिरे से परिसीमन होगा। क्योंकि नारसन ब्लॉक क्षेत्र में 2 बीडीसी सीट पूरी तरह समाप्त हो गई है जबकि रुड़की ब्लॉक क्षेत्र में आधा दर्जन बीडीसी सीट नगरीय क्षेत्र में चली गई है। नारसन ब्लॉक की एक ढंडेरा जिला पंचायत सीट पूरी तरह समाप्त हो गई है । इसी तरह से रुड़की ब्लॉक क्षेत्र की रामपुर सीट पूरी तरह समाप्त हो गई है । अन्य तीन सीटें भी प्रभावित हुई है। पंचायत राज विभाग के अधिकारी रुड़की ब्लॉक क्षेत्र में नई बीडीसी सीट बनाने पर माथापच्ची कर रहे हैं। इसके बाद जिला पंचायत सीट बनेंगी। नारसन ब्लॉक क्षेत्र की दो बीडीसी सीट भी बनाए जाने की कसरत हो रही है। इस संबंध में पंचायत राजनीति के जानकारों ने विभाग को कुछ सुझाव भी दिए हैं जिसमें कहा गया है कि धनोरी जिला पंचायत सदस्य सीट में बड़े ढी डकी एक बीड़ीसी सीट जोड़ दी जाए और बेलडा सीट से काटकर रहमतपुर बीडीसी सीट भी धनौरी सीट में कर दी जाए। वही नागल उर्फ मेहवड़ बीडीसी सीट को बेलडा में समायोजित कर दी जाए । इसके अलावा सुझाव यह भी दिया गया है कि पुहाना, किशनपुर ,करौंदी के साथ नन्हेड़ा बीडीसी को जोड़ दिया जाए तो यह भी सीट पूरी बन जाएगी। नारसन ब्लॉक में कई बीडीसी काफी बड़ी है । उनमें से कटौती कर दो नई बीड़ीसी सीट आसानी से बन सकती है। देखा जाए तो दो जिला पंचायत सदस्य सीट दो कम हो ही गई है। यदि 47 सीट बनाने की कोशिश की तो परिसीमन में और भी काफी फेरबदल करना पड़ेगा जो कि उचित नहीं है। जानकारी मिली है कि जिला पंचायत राज अधिकारी रमेश चंद्र त्रिपाठी ने आज नारसन और रुड़की ब्लॉक के अधिकारियों कर्मचारियों को बुलाकर उनसे विस्तृत रिपोर्ट ली और दोनों ब्लाक क्षेत्र की बीड़ीसी और जिला पंचायत के परिसीमन की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *