हिस्ट्रीशीटर और नशा तस्करों के साथ संलिप्तता के आरोप में डीआईजी ने आठ पुलिसकर्मियों को चढ़ा दिया पहाड़, पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच में मिले थे सुबूत

हरिद्वार । हिस्ट्रीशीटर और नशा तस्करों के साथ संलिप्तता के आरोप में डीआईजी रेंज नीरू गर्ग ने हरिद्वार से आठ पुलिसकर्मियों को पहाड़ चढ़ा दिया है। पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच में सुबूत मिले थे। जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है। इस मामले में दो पुलिसकर्मियों को एसटीएफ ने गिरफ्तार भी किया था। 16 अप्रैल को ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में देहरादून एसटीएफ की टीम ने छापेमारी करते हुए हिस्ट्रीशीटर सत्तार इरफान के अलावा महिला समेत दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया था। दो पुलिसकर्मी अमजद और रईस राजा को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पुलिसकर्मियों की मिलीभगत सामने आने के बाद नारकोटिक्स सेल और ज्वालापुर कोतवाली पुलिसकर्मियों के अलावा अन्य पुलिसकर्मियों की जांच शुरू की गई थी। इसमें एसएसपी के सुरक्षाकर्मी विकास बलूनी के खिलाफ भी कार्रवाई की गई थी। जांच के बाद डीआईजी नीरू गर्ग ने की हेड कांस्टेबल विकास बलूनी को चमोली, ज्वालापुर कोतवाली में तैनात रविंद्र नेगी, मनमोहन को चमोली नारकोटिक सेल में, सत्येंद्र चौधरी, हेमंत के अलावा विनोद, जयप्रकाश, और हुकुम सिंह को रुद्रप्रयाग ट्रांसफर किया है। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने बताया कि पुलिस कर्मियों को हरिद्वार से भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.