वैक्सीन टीकाकरण की रफ्तार धीमी होने पर जिलाधिकारी ने जताई नाराजगी, वैक्सीनेशन में तेजी लाने के लिए लाने के क्षेत्रों को चार जोन और आठ सेक्टरों में किया विभाजित

हरिद्वार । जिले में कोरोना वैक्सीन टीकाकरण की रफ्तार धीमी होने पर जिलाधिकारी विनय शंकर पाण्डेय ने नाराजगी जताई है। वैक्सीनेशन में तेजी लाने के लिए लाने के क्षेत्रों को चार जोन और आठ सेक्टरों में विभाजित किया गया है। प्रत्येक ग्राम पंचायत में टीकाकरण के लिए चिकित्सा विभाग की ओर से टीकाकरण अधिकारी एवं एक सत्यापन अधिकारी नामित किया गया है। राशन डीलर की उपस्थिति में गांव-गांव जाकर जागरूकता कैंप भी लगाया जाएगा। प्रदेश के दो जिले टीकाकरण में लक्ष्य पूरा करने के बाद हरिद्वार इसमें पिछड़ता दिख रहा है। कई ग्राम पंचायतों में टीकाकरण की प्रगति धीमी है। इसमें तेजी लाने के लिए खण्ड विकास अधिकारियों की ओर से क्षेत्र में सहायक खण्ड विकास अधिकारी (पंचायत), आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायक समाज कल्याण अधिकारी उक्त ग्राम सभा के राशन डीलर की उपस्थिति में प्रत्येक ग्राम सभा में एक जागरूकता कैंप का आयोजन किया जाएगा। यह कैंप तब तक जारी रहेंगे, जब तक उन ग्रामों में 100 प्रतिशत टीकाकरण नहीं हो जाता है। इन ग्राम पंचायतों में सबसे जल्दी 100 प्रतिशत टीकाकरण करने वाली प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली टीमों एवं उनको आवंटित ग्राम पंचायतों को जनपद स्तर पर सम्मानित किया जाएगा। लक्सर ब्लॉक के लिए जोनल मजिस्ट्रेट एसडीएम लक्सर, सेक्टर मजिस्ट्रेट सहायक विकास अधिकारी तथा वैक्सीनेटर ऑफिसर डॉ. एचडी शाक्य को नामित किया गया है। ब्लॉक नारसन में एसडीएम रुड़की को जोनल मजिस्ट्रेट, डॉ. अजय कुमार को वैक्सीनेटर ऑफिसर बनाया गया है। ब्लॉक भगवानपुर में एसडीएम भगवानपुर को जोनल मजिस्ट्रेट, डॉ. पंकज जैन को वैक्सीनेटर ऑफिसर, रुड़की ब्लॉक के लिए ज्वाइंट मजिस्ट्रेट को जोनल मजिस्ट्रेट, डॉ. खगेन्द्र को वैक्सीनेटर ऑफिसर नामित किया गया है। इसके अतिरिक्त प्रत्येक ग्राम के लिए सत्यापन अधिकारी भी नामित किये गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.