बैंक शाखा प्रबंधकों को ही वसूलना पड़ेगा वितरित किया गया ऋण, जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने जारी की सख्त हिदायत

रुड़की । जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने कहा है कि शाखा प्रबंधक वितरित किया गया ऋण खुद वसूल करेंगे। जब तक वह तैनाती शाखा से संबंधित ऋण की बकाया राशि वसूल नहीं लेते। तब तक उनका अन्य शाखा पर तबादला नहीं किया जाएगा। इसके लिए सभी शाखा प्रबंधकों को 31 मार्च तक का समय दिया गया है। यदि वह बकाया राशि वसूल नहीं करते तो निश्चित रूप से उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने कहा है कि पूर्व में बहुत ही गलत तरीके से ऋण वितरित किया गया है। उन्होंने माना कि यदि पूर्व में ऋण वितरित करते समय सावधानी बरती जाती और नियमों का ख्याल रखा जाता तो आज इतनी बड़ी बकाया राशि न हो पाती। उन्होंने बताया कि 60 करोड रुपए बकाया लंबित है। जिसे वसूलने के लिए सहकारी बैंक ने प्रयास तेज कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी जरूरत के मुताबिक अधिक से अधिक ऋण वितरित किया जा रहा है । अन्य व्यवसाय के लिए सरकारी बैंक की ओर से ऋण दिया जा रहा है । लेकिन अब जो ऋण वितरित किया जा रहा है। उसमें नियमों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है और इस बात का भी पूरा ख्याल रखा जा रहा है कि जिस व्यक्ति को ऋण दिया जा रहा है कि वह समय से उसे वापस कर भी देगा या नहीं। जिस आवेदन कर्ता की नियत बैंक को ठीक नहीं लग रही है उसके आवेदन निरस्त किए जा रहे हैं। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी ने साफ शब्दों में कहा है कि बैंक को नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। इसीलिए जिला सहकारी बैंक की सभी शाखाओं में डिपॉजिट बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों के खाते भी जिला सहकारी बैंक की शाखाओं में खुलवाए जा रहे हैं। जिले के निकालो के साथ ही ग्राम पंचायतों के खाते भी सहकारी बैंक की शाखाओं में खुलवाने की प्रक्रिया तेज की गई है। उन्होंने कहा कि शाखा प्रबंधकों को निर्देश दिए गए हैं कि वह भी किसानों और अन्य लोगों से संवाद बढ़ाएं और उनके डिपॉजिट खाते खुलवाए। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष ने बताया कि बारिश और ओलावृष्टि से हरिद्वार जनपद में फसलों को काफी नुकसान हुआ है। इसके लिए वह अपने स्तर से भी सर्वे करा रहे हैं जिन क्षेत्रों में ओलावृष्टि व बारिश से फसलों को अधिक नुकसान हुआ है। वहां के किसानों को जिला सहकारी बैंक की ओर से किसी न किसी रूप में कुछ राहत देने पर विचार किया जाएगा। जिला सहकारी बैंक अध्यक्ष ने बताया कि कुछ नई शाखा खोलने पर भी विचार हो रहा है इसके लिए सभी क्षेत्रों से जानकारी ली जा रही है। मई माह में कुछ नई शाखाएं खोली जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *