जिला पंचायत बोर्ड की बैठक को लेकर उठापटक तेज, करोड़ों के प्रस्ताव मंजूर होने की संभावना

रुड़की । जिला पंचायत बोर्ड की बैठक 4 जनवरी को होगी। जिसमें करोड़ों के प्रस्ताव मंजूर होने की संभावना है। यह बैठक दोनों खेमों के लिए टी-20 मैच से कम नहीं है। क्योंकि दोनों ही खेमों का इस बैठक में वजन तुलने जा रहा है। अलबत्ता, दोनों खेमों ने प्रस्तावित बैठक को लेकर पूरे जोर लगाए हैं। हालांकि राजनीतिक जानकारों का कहना है कि बोर्ड की बैठक में हाल में आए चुनाव परिणाम जैसी स्थिति ही रहेगी। जिसमें 1 वोट चौधरी राजेंद्र व शहजाद गठजोड़ वाले खेमे की बढ़ जाएगी। इसी खेमे की सोनिका अभी कोटवाल आलमपुर जिला पंचायत सदस्य सीट से चुनाव जीती है। लेकिन जानकारी कुछ ऐसी भी मिल रही है कि चौधरी राजेंद्र -शहजाद गठजोड़ के कुछ सदस्य अब छिटक भी सकते हैं। अपने क्षेत्र में विकास के लिए बजट आवंटित कराने के उद्देश्य से इस खेमे के कुछ सदस्य जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा के साथ जा सकते हैं। क्योंकि बैठक में बहुत सारे प्रस्ताव पारित होने हैं। लिहाजा चौधरी राजेंद्र और मोहम्मद शहजाद के प्रयास रहेंगे कि यह बैठक सफल ना हो। सूत्रों ने बताया कि बैठक को लेकर इस खेमे द्वारा योजना बनाई गई है। जिसके चलते यह खेमा जिला पंचायत सदस्यों से लगातार संपर्क कर रहा है। पर जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा इस खेमे को अब किसी भी सूरत में बाजी देने वाले नहीं है। उनके द्वारा हर कदम फूंक-फूंक कर उठाया जा रहा है साथ ही उनकी कोशिश समर्थित जिला पंचायत सदस्यों की संख्या बढ़ाने की भी है। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि जिस तरह से प्रस्तावित बैठक को लेकर दोनों ओर से जोड़ लग रहे हैं ऐसे में कुछ सदस्य गैरहाजिर भी रह सकते हैं। ताकि वह किसी भी खेमे से बुरे ना बने। फिलहाल 47 सदस्य है । जिनमें से अभी सोनिका को सदस्य की शपथ दिलाई जानी है। 25-22 की स्थिति फिलहाल साफ तौर पर दिखाई दे रही है। लेकिन कविता किस रस का हाईकोर्ट के आदेश पढ़ने लंबी चल रही है तो बोर्ड की बैठक 46 सदस्यों पर ही होगी। ऐसे में सुभाष वर्मा के साथ 25 तो विपक्ष में 21 सदस्य एक साथ बैठ सकते हैं। यह बैठक के बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। इस बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा के द्वारा तैयार किया गया हरिद्वार के विकास का खाका साफ तौर पर दिखाई देगा। फिलहाल जिला पंचायत के सभी अधिकारी कर्मचारी प्रस्तावित बोर्ड की तैयारियों में जुटे हुए हैं। बोर्ड की बैठक में अधिक से अधिक कार्यों को स्वीकृति मिल जाए । इसके प्रयास हो रहे हैं। वहीं प्रशासन भी जिला पंचायत बोर्ड की पहली बैठक की संवेदनशीलता को अच्छी तरह समझ रहा है। बैठक में खुद जिलाधिकारी दीपेंद्र चौधरी मौजूद रह सकते हैं। मुख्य विकास अधिकारी व अन्य अधिकारी भी बैठक में जरूर पहुंचेंगे। जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा ने आज जिला पंचायत के अधिकारियों कर्मचारियों से प्रस्तावित बैठक की तैयारियों के बाबत जानकारी ली है। साथ ही उन्होंने निर्देशित किया है कि जिला पंचायत के कार्यालय की साफ-सफाई अच्छे ढंग से की जाए। पूरा परिसर साफ सुथरा किया जाए । उनके निर्देश पर ही जिला पंचायत डाक बंगला रूड़की में भी सफाई कराई जा रही है। यहां पर सारे पौधे नष्ट हो गए थे । फुलवाड़ी गायब हो गई थी। नए सिरे से पौधे लगाए जा रहे हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष सुभाष वर्मा ने आज रुङकी के डाक बंगले का निरीक्षण भी किया। उन्होंने यहां पर अपने समर्थकों के साथ विशेष बैठक भी की। जिला पंचायत अध्यक्ष जिला पंचायत के डाक बंगले में हो रही अवैध पार्किंग पर सख्त नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने अवैध पार्किंग बंद कराने के साथ ही डाक बंगले के मुख्य द्वार को अतिक्रमण मुक्त कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जिले भर से विकास संबंधी प्रस्ताव भी मौजूदा व पूर्व पंचायत प्रतिनिधियों से मंगवाए हैं। ताकि जरूरी स्थानों पर विकास कार्य शुरू हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.