भाजपा जिलाध्यक्ष की घोषणा अटकी, केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री मौजूदा जिलाध्यक्ष डॉ जयपाल के नाम पर अड़े

रुड़की । केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक भाजपा जिलाध्यक्ष पद पर डॉ जयपाल सिंह चौहान को रिपीट किए जाने की मांग पर अड़ गए हैं। जिस कारण भाजपा हरिद्वार जिलाध्यक्ष के नाम की घोषणा नहीं हो सकी है। जबकि अन्य 10 जिलों के अध्यक्षों के नाम घोषित कर दिए गए हैं। दरअसल,दो दिन पहले हरिद्वार भाजपा जिलाध्यक्ष पद को लेकर अंतिम लड़ाई मौजूदा जिलाध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान पूर्व जिला अध्यक्ष ठाकुर सुशील चौहान और योगेश चौहान के बीच रह गई थी। इसमें मंगलवार की रात को योगेश चौहान का नाम हरिद्वार भाजपा जिला अध्यक्ष पद के लिए लगभग फाइनल भी हो गया था। जिसके चलते अधिकतर अन्य दावेदार देहरादून से वापस लौट आए थे और वह मान गए थे कि योगेश चौहान कभी भी जिलाध्यक्ष घोषित हो सकते हैं। लेकिन जब डॉ जयपाल सिंह चौहान को लगा कि बाजी उनके हाथ से निकल चुकी है तो उन्होंने सीधे दिल्ली में केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल से संपर्क साधा। इसमें उन्होंने बताया कि अन्य जनपदों में कई जिला अध्यक्ष रिपीट किए जा रहे हैं । लेकिन उनके नाम पर कुछ प्रदेश स्तरीय नेता ना नुकुर कर रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि तभी केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल ने हरिद्वार भाजपा जिला अध्यक्ष पद को लेकर हस्तक्षेप किया। इस बीच उनके द्वारा भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ,प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं से बातचीत की गई। काफी गहमागहमी के बाद हरिद्वार भाजपा जिलाध्यक्ष की घोषणा रोक दी गई। पार्टी सूत्रों ने बताया कि यदि केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री इस ओर हस्तक्षेप ना करते तो योगेश चौहान बुधवार की शाम को भाजपा हरिद्वार जिलाध्यक्ष घोषित हो गए होते। लेकिन उनके नाम की घोषणा अचानक रुक गई। जिससे कि हरिद्वार जिला भाजपा में अचानक ठहराव सा आ गया। जब अन्य दावेदारों ने देखा कि योगेश चौहान के नाम की घोषणा रुक गई है तो वह भी आज सुबह ही देहरादून पहुंच गए। कुछ सैनी नेताओं ने भी केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक से संपर्क साधा। भाजपा जिलाध्यक्ष पद के गैर चौहान प्रबल दावेदार जय भगवान सैनी ने भी देहरादून जाकर भाजपा के प्रदेश स्तरीय नेताओं से बातचीत की। उन्होंने तर्क भी दिया कि हरिद्वार जनपद कि भाजपा में जातीय संतुलन बनाए रखने के लिए सैनी जिलाध्यक्ष बनाया जाना जरूरी है। हालांकि उन्हें इस संबंध में कोई ठोस आश्वासन तो नहीं मिला । लेकिन जो नए समीकरण बने हैं। उसमें उनका नाम फिर से जिलाध्यक्ष पद के लिए उभरकर सामने आ गया है। यह चर्चा आज काफी जोरों पर रही कि यदि ही डॉ जयपाल सिंह चौहान जिला अध्यक्ष पद पर रिपीट नहीं होते हैं तो ऐसे में जय भगवान सैनी के जिलाध्यक्ष बनने की संभावना रहेगी। क्योंकि डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान के बाद केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक की जिला अध्यक्ष पद के लिए दूसरी पसंद जय भगवान सैनी हो सकते हैं। क्योंकि वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने ही जय भगवान सैनी को पिरान कलियर विधानसभा से टिकट दिलाया था। इसीलिए जय भगवान सैनी डॉ निशंक खेमे के ही माने जाते हैं। लेकिन अब जो 15 दिन से जिलाध्यक्ष पद को लेकर खेमे बंदी चल रही है उसमें जय भगवान सैनी ने अपनी अलग से लॉबी खड़ी की। जिस कारण जय भगवान सैनी की डॉ निशंक खेमे से थोड़ी दूरी बन गई। लेकिन रात जब भाजपा हरिद्वार जिला अध्यक्ष के नाम की घोषणा रुकी तो जय भगवान सैनी फिर से डॉक्टर निशंक खेमे के करीब पहुंच गए। अब देखना यह है कि भाजपा जिलाध्यक्ष पद पर डॉ जयपाल सिंह चौहान ही रिपीट होते हैं या योगेश चौहान व ठाकुर सुशील चौहान में से किसी एक को जिलाध्यक्ष बनाया जाता है। या फिर इन तीनों ठाकुरों के बीच छिड़ी जंग का लाभ या भगवान सैनी उठाने में कामयाब होते हैं। ठाकुर सुशील चौहान को मुख्यमंत्री खेमे का माना जाता है। योगेश चौहान को संगठन का समर्थन है तो शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक की ओर से भी उन्हें सहयोग मिल रहा है। माना जा रहा है कि इसी वजह से योगेश चौहान मुख्यमंत्री खेमे केकाफी करीब पहुंचे हैं। बहरहाल ,भाजपा के तमाम स्थानीय नेता और कार्यकर्ता आज दिनभर देहरादून भाजपा कार्यालय में फोन मिलाते रहे। भाजपा जिला अध्यक्ष के नाम की घोषणा देर शाम तक नहीं हो सकी। हां स्थानीय नेताओं और कार्यकतार्ओं को यह जानकारी जरूर मिलती रही कि जिला अध्यक्ष पद की दौड़ में योगेश चौहान सबसे आगे हैं। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक मौजूदा जिलाध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान को इस पद पर रिपीट कराने के लिए अड़े हुए हैं। जानकारी मिली है कि आज हरिद्वार जिले के भाजपा विधायकों ने भी देहरादून जाकर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से जिलाध्यक्ष के संबंध में बातचीत की। जिसमें 4 विधायकों का समर्थन मौजूदा जिलाध्यक्ष डॉक्टर जयपाल सिंह चौहान को ही रहा। 2 विधायकों का समर्थन ठाकुर सुशील चौहान को रहा। योगेश चौहान का किसी भी विधायक ने समर्थन नहीं किया पर उनका किसी ने विरोध भी नहीं किया। जय भगवान सैनी को कुछ विधायकों ने अपनी दूसरी पसंद बताया। वहीं भाजपा के मंडल अध्यक्षों ने भी जिलाध्यक्ष पद पर अपने पसंदीदा दावेदारों के नाम विभिन्न माध्यमों से पार्टी हाईकमान तक पहुंचाए। कुछ भाजपा मंडल अध्यक्ष तो आज देहरादून भी पहुंचे। उन्होंने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट महामंत्री संगठन अजय कुमार से मुलाकात भी की। पार्टी सूत्रों ने बताया है कि भाजपा हरिद्वार जिला अध्यक्ष पद का मसला कल तक सुलझ जाएगा। हो सकता है इस बीच भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट और महामंत्री संगठन अजय कुमार से प्रदेश प्रभारी के अलावा राष्ट्रीय सह महामंत्री शिव प्रकाश की भी बातचीत हो। अब देखना यह है कि पद के लिए लॉटरी किसकी खुलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.