दुर्घटना रोकने के लिए प्रभावी प्रयास किए जाएं: एडीएम, सड़क सुरक्षा एवं दुर्घटना न्यूनीकरण अनुश्रवण समिति की बैठक

हरिद्वार। अपर जिलाधिकारी(प्रशासन) पी0एल0 शाह की अध्यक्षता में शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में सड़क सुरक्षा एवं दुर्घटना न्यूनीकरण अनुश्रवण समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक में सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी रश्मि पन्त ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से सड़क सुरक्षा एवं दुर्घटना न्यूनीकरण के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी। बैठक में सर्वप्रथम अपर जिलाधिकारी ने ई-रिक्शा के सम्बन्ध में पूर्व में दिये गये निर्देशों के क्रम में अब तक उठाये गये कदमों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। इस पर सी0ओ0 ट्रैफिक ने अवगत कराया कि ई-रिक्शा का संचालन व्यवस्थित करने के लिये हरिद्वार शहर में 16 रूट निर्धारित किये गये हैं तथा रूटवार ई-रिक्शा की संख्या एवं कलर कोड निर्धारित किया गया है, जिससे शहर में जाम की स्थिति से काफी राहत मिली है। इसके अलावा अभियोगी ई-रिक्शा चालकों के विरूद्ध निरन्तर प्रवर्तन की कार्रवाई गतिमान है। बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों ने पूर्व में दिये गये निर्देशों के क्रम में अवगत कराया कि राष्ट्रीय राजमार्गों के प्रत्येक पांच किलोमीटर पर हैल्पलाइन नम्बर 1033 के बोर्ड लगा दिये गये हैं, जिसके माध्यम से निकट चिकित्सालय व पुलिस थाने आदि में सम्पर्क किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त फ्लैक्स बोर्ड लगाये गये हैं, जिसमें पुलिस स्टेशन आदि के नम्बर अंकित किये गये हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग पर जगह-जगह सीसी टीवी कैमरे लगाये जाने के सम्बन्ध में पूछे जाने पर अधिकारियों ने बताया कि सीसी टीवी कैमरे लगाये जाने के सम्बन्ध में प्राक्कलन तैयार किया जा रहा है।

पी0एल0 शाह द्वारा परिवहन विभाग के अधिकारियों से चालान व प्रवर्तन के सम्बन्ध में जानकारी ली तो अधिकारियों ने बताया कि वर्ष 2022 में परिवहन विभाग द्वारा नवम्बर माह में 644 वाहनों के विरूद्ध प्रवर्तन की कार्रवाई की गयी। इस पर अपर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे बसों, भारी वाहनों तथा अन्य के विरूद्ध चालान व प्रवर्तन की कार्रवाई में और तेजी लायें।
हिट एण्ड रन प्रकरणों पर चर्चा के दौरान बताया गया कि वर्ष 2022 में अज्ञात वाहनों से घटित सड़क दुर्घटनाओं की 75 घटनायें घटित हुई, जिसमें 55 ने अपनी जान गवाई तथा 47 घायल हुये। सीओ ट्रैफिक ने बताया कि इस सम्बन्ध में लगातार बैठक करते हुये मॉनिटरिंग की जा रही है तथा ऐसे प्रकरणों के सम्बन्ध में अलग से स्टाफ की व्यवस्था की गयी है।
बैठक में ब्लैक स्पॉट/दुर्घटना सम्भावित क्षेत्रों के सम्बन्ध में अपर जिलाधिकारी द्वारा अधिकारियों से जानकारी लेने पर अधिकारियों ने बताया गया कि कोतवाली नगर, कोतवाली ज्वालापुर, कनखल, श्यामपुर, बहादराबाद, लक्सर, बुग्गावाला, रूड़की, भगवानपुर, मंगलौर एवं सिडकुल क्षेत्रों में कुल 31 ब्लैक स्पॉट/दुर्घटना सम्भावित क्षेत्र चिह्नित किये गये थे, जिनमें से 20 को ठीक कर दिया गया है, शेष 11 को ठीक करने की कार्रवाई गतिमान है। इस पर अपर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को ये भी निर्देश दिये कि वर्तमान परिस्थितियों के अनुसार ब्लैक स्पॉट/दुर्घटना सम्भावित क्षेत्रों का एक सर्वे भी करा लिया जाये।
सड़क सुरक्षा जागरूकता पर चर्चा के दौरान अधिकारियों ने बताया कि दिनांक 16 नवम्बर,2022 को जनपद के लगभग 87 विद्यालयों में सड़क सुरक्षा जागरूकता का आयोजन किया गया, जिसमें 20 हजार से अधिक छात्र-छात्राओं तथा 500 से अधिक शिक्षक/शिक्षिकाओं को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक किया गया तथा सड़क सुरक्षा सम्बन्धी सामग्री का वितरण भी किया गया।
इस अवसर पर अवधेश कुमार सिंह सिटी मजिस्ट्रेट, पूरण सिंह राणा, एसडीएम, गोपाल राम बिनवाल एसडीएम लक्सर, राजेश रावत सीओ ट्रैफिक, कुलवंत सिंह चौहान एआरटीओ, सुरेश तोमर, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण, एच.डी गुप्ता नगर निगम रुड़की, अतुल कुमार शर्मा एन.एच.ए.आई रुड़की, एस0के0 गर्ग पीडब्ल्यूडी हरिद्वार, एन.के. कल्याणी डी.ई.ओ,. आर.के तनेजा पीडब्लूडी, श्याम सुंदर प्रसाद नगर निगम हरिद्वार, विनोद उनियाल एनएचएआई नजीबाबाद, सुश्री शालिनी मौर्या तहसीलदार रुड़की, आर.बी कटियान टीईएस एनएचएआई, सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *