प्रशासन से वार्ता के बाद किसानों ने स्थगित किया धरना, युवा भाकियू नेता अंकुर चौधरी ने दी जानकारी

रुड़की । भारतीय किसान यूनियन ने गन्ना भुगतान को लेकर मंगलवार को प्रस्तावित धरना स्थगित कर दिया है। मिल प्रबंधन और किसानों के बीच पांच अगस्त तक किसानों का 20 दिन का भुगतान करने की सहमति बनी है। वहीं पांच तक भुगतान न होने पर किसानों ने फिर से आंदोलन की बात कही है। बकाया गन्ना भुगतान ना होने पर भाकियू ने 21 जुलाई से लिब्बरहेड़ी चीनी मिल पर अनिश्चितकालीन धरने का एलान किया था। किसानों ने इस संबंध में डीएम और गन्ना आयुक्त से भी शिकायत की थी। सोमवार को लिब्बरहेड़ी चीनी मिल प्रबंधन, किसान और लिब्बरहेड़ी गन्ना समिति सचिव के बीच गन्ना भुगतान को लेकर वार्ता हुई।पहले तो दोनों पक्षों के बीच नोकझोंक होती रही। बाद में तय हुआ कि चीनी मिल प्रबंधन जल्द भुगतान करेगा।चीनी मिल की ओर से महाप्रबंधक गन्ना अनिल कुमार सिंह ने कहा कि पांच अगस्त तक चीनी मिल 20 दिन का भुगतान कर देगी। 29 फरवरी तक का भुगतान किसानों के खाते में भेज दिया है। इसके अलावा पेराई सत्र शुरू होने से पहले यार्ड को भी सुधार दिया जाएगा। इस पर भाकियू के जिलाध्यक्ष विजय शास्त्री ने कहा कि यदि पांच अगस्त तक किसान का भुगतान तय वादे के अनुसार नहीं होता है तो किसान छह अगस्त को मिल गेट पर तालाबंदी करते हुए धरना देंगे। किसी भी सूरत में अब आंदोलन से पीछे नहीं हटा जाएगा। इस मौके पर समिति के सचिव जय सिंह, भाकियू के गढ़वाल मंडल अध्यक्ष संजय चौधरी, रवि कुमार, राकेश लौहान, अंकुर चौधरी ,कुलदीप सैनी, सुक्रमपाल आदि ने विचार व्यक्त किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.