लक्सर गन्ना समिति में खाद घोटाले की फाइल जिलाधिकारी को भेजी, पिछले हफ्ते किसानों के नाम खाद का फर्जी आवंटन दिखाने का पकड़ा गया था मामला

रुड़की । लक्सर गन्ना समिति में बीस लाख के खाद घोटाले की एफआई दर्ज नहीं होने के बाद समिति के सचिव ने इसकी रिपोर्ट सहायक गन्ना आयुक्त के माध्यम से शासन को भेज दी है। सहायक गन्ना आयुक्त का कहना है कि एफआईआर दर्ज कराने के लिए पूरी फाइल डीएम से सामने पेश की जा रही है। पिछले हफ्ते लक्सर गन्ना समिति में किसानों के नाम खाद का फर्जी आवंटन दिखाने का मामला पकड़ा गया था। समिति सचिव गौतम नेगी की जांच में तीस से अधिक किसानों के खातों में लाखों की घोखाधड़ी की पुष्टि हुई। मामले में डीएम और गन्ना आयुक्त के निर्देश पर सोमवार को सहायक गन्ना आयुक्त शैलेंद्र सिंह ने समिति कार्यालय में पहुंचकर पूरे मामले की जांच की थी। उन्होंने जांच के बाद बताया था कि 2018-19 में लक्सर समिति में तैनात कर्मचारी ने 19.48 लाख रुपये की यूरिया, डीएपी खाद और कीटनाशक दवाएं फर्जी तरीके से समिति के 49 सदस्य किसानों के खातों में आवंटन दर्शाया है। समिति सचिव ने लक्सर कोतवाली में आरोपी कर्मचारी के खिलाफ तहरीर दी थी लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया और तहरी वापस लौटा दी। पुलिस का कहना है कि यह मामला उच्च अधिकारियों के संज्ञान में लाया जाना चाहिए। समिति सचिव ने मामले में एफआईआर दर्ज नहीं होने की पूरी रिपोर्ट बनाकर डीसीओ के मार्फत शासन को भेजी है। सहायक गन्ना आयुक्त ने बताया कि डीएम को मामले की जानकारी देने के लिए समिति सचिव को पूरी पत्रावली सहित उनके कार्यालय भेजा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *