आगामी पंचायत की बैठकों में पहला प्रस्ताव विद्यालयों व आंगनबाड़ी केन्द्रों में पेयजल व विद्युत से संबंधित हो, सीडीओ प्रतीक जैन ने दिए निर्देश

हरिद्वार । आगामी पंचायत की बैठकों में पहला प्रस्ताव विद्यालयों व आंगनबाड़ी केन्द्रों में पेयजल व विद्युत से सम्बन्धित होना चाहिए यह निर्देश मुख्य विकास अधिकारी प्रतीक जैन ने समग्र शिक्षा अभियान के तहत गठित जिला स्तरीय शिक्षा परियोजना समिति की बैठक में डीपीआरओ व शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दिये। मंगलवार को जिला कार्यालय सभागार में आयोजित समग्र शिक्षा अभियान के तहत गठित जिला स्तरीय शिक्षा परियोजना समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्य विकास अधिकारी प्रतीक जैन ने जिला पंचायतराज अधिकारी व मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये। जनपद के सभी विद्यालयों व आंगनबाड़ी केन्द्रों को जल जीवन मिशन से आच्छादित किये जाने को लेकर उन्होने मुख्य शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि आगामी 10 दिन के भीतर ऐसे विद्यालयों की सूची उपलब्ध करायें जिसे जल जीवन मिशन से आच्छादिन नहीं किया गया है व अबतक नलों में पानी की अपूर्ति नहीं हो पायी है। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि वर्तमान में प्रचलित सोशल मीडिया विभिन्न माध्यमों के बावजूद विद्यालय स्तर से किसी भी सूचना का संकलन करने में अपेक्षा से अधिक समय लग रहा है जिस कारण योजनाओं के क्रियान्वयन सहित अन्य महत्वपूर्ण कार्यो को समयसीमा के भीतर पूरा करने में दिक्कतें पेश आती है। उन्होने शिक्षा विभाग के जिला स्तरीय, ब्लॉक स्तरीय व विद्यालय स्तरीय अधिकारियों/प्रधानाचार्यो के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान के चैनल को व्यवस्थित करने के निर्देश दिये है ताकि विद्यालय स्तर की गतिविधियों की रिर्पोट त्वरित गति से प्राप्त हो सके।

समग्र शिक्षा अभियान के सब-कम्पोनेन्ट र्स्पोट्स एवं फीजिकल एजूकेशन के तहत प्राथमिक विद्यालयों को खेल के साझो-सामान के लिए प्रतिवर्ष की दर से मिलने वाली 5 हजार रुपये की धनराशि का शतप्रतिशत सदुपयोग करने के निर्देश शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दिये हैं। सीडीओ ने कहा कि विगत निरीक्षणों में पया गया कि खरीदा गया खेल का सामान बक्से में ही पड़े रहने के कारण खराब हो जाता है।
मुख्य विकास अधिकारी के0के0 गुप्ता ने बताया कि जनपद के कुल 2320 सरकारी व गैर सरकारी विद्यालय शामिल है। जिसमें 256283 लड़के व 225155 लड़कियों सहित कुल 481438 छात्र शिक्षणरत है। उन्होने वित्तीय वर्ष 2022-23 में अनुमोदित विभिन्न गतिविधियों हेतु अवमुक्त 25 करोड़ 84 लाख से किये गये भौतिक कार्यो एक्सेस एण्ट रिटेन्शन, विद्यालयों का सुदृढ़ीकरण, निशुल्क पाठ्य पुस्तक 12 1(सी) के अन्तर्गत प्रतिपूर्ति, विद्यालय से बाहर रह गये बच्चों हेतु गैर आवासीय विशिष्ट प्रशिक्षण, विद्यालय अनुदान, पुस्तकालय अनुदान आदि की प्रगति से मुख्य विकास अधिकारी को अवगत कराया। बैठक में जिला शिक्षाधिकारी प्रा0 एस0 पी0 सेमवाल, सहा0 विद्यालय लेखा अधिकारी माया देवी, जिला पंचायतराज अधिकारी जिला कार्यक्रम अधिकारी सुलेखा सहगल, डीपीआरओ अतुल प्रताप सहित शिक्षा विभाग के विकासखण्ड स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *