उत्तराखंड के सरकारी स्कूलों में भोजन भत्ता स्कूल आने वाले छात्रों को ही मिलेगा, सात मार्च से शुरू होगी व्‍यवस्‍था

देहरादून । सरकारी स्कूलों में दोपहर के भोजन (मिड-डे मील) का भत्ता अब केवल उन्हीं छात्रों को मिलेगा जो स्कूल आएंगे। सात मार्च से इस व्यवस्था के अनुसार ही छात्रों को भत्ता दिया जाएगा। इससे पहले प्राथमिक व जूनियर हाई स्कूलों में पंजीकृत सभी छात्रों को मिड-डे मील का लाभ मिलता था। समग्र शिक्षा अभियान के निदेशक बंशीधर तिवारी ने प्रदेशभर के जिला शिक्षा अधिकारियों को यह आदेश जारी किए हैं। आदेश के मुताबिक भोजन माताओं को फरवरी के मानदेय का भी भुगतान अनिवार्य रूप से किया जाएगा। मुख्य शिक्षा अधिकारी देहरादून डा. मुकुल कुमार सती ने बताया कि 16 जनवरी को कोरोना संक्रमण के एकाएक बढ़ने के कारण सभी स्कूलों को बंद करने का शासनादेश जारी किया गया था। संक्रमण घटने पर सात फरवरी से पहली से नौवीं तक की सभी स्कूल खोलने के आदेश जारी किए गए। इसलिए पहली से चार फरवरी तक सभी छात्रों को खाद्य सुरक्षा भत्ता (एफएसए) का लाभ दिया जाएगा। सात फरवरी से केवल स्कूल आने वाले छात्रों को ही इसका लाभ मिलेगा। लाभार्थियों को रविदास जयंती व 14 फरवरी को विधानसभा चुनाव मतदान दिवस अवकाश होने का लाभ नहीं मिलेगा। गौर हो कि प्रदेशभर में 17 हजार राजकीय प्राथमिक विद्यालय व जूनियर हाईस्कूल हैं। इन विद्यालयों में सात लाख से ज्यादा छात्र-छात्राएं मिड-डे मील (एमडीएम) योजना में शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *