फॉरेस्ट गार्ड भर्ती नकल कराने का मुख्य आरोपी गिरफ्तार, आरोपी मुकेश सैनी से पुलिस टीमों ने की कड़ी पूछताछ

रुड़की । फॉरेस्ट गार्ड भर्ती में नकल करवाने के मुख्य आरोपी मुकेश सैनी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है उसके पास से नकल के लिए इस्तेमाल की गई ब्लूटूथ और फोन में पुलिस द्वारा बरामद किए गए हैं वही टीम के अन्य सदस्यों की तलाश पुलिस को जारी है। रुड़की सिविल लाइंस कोतवाली में घटना का खुलासा करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डी सेंथिल अबुदई कृष्ण राज एस ने बताया विगत 15 फरवरी को उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग व प्राविधिक शिक्षा परिषद द्वारा फॉरेस्ट गार्ड परीक्षा में ब्लूटूथ के माध्यम से नकल करवाने की सूचना पुलिस को दी गई थी। सूचना के बाद पुलिस ने नारसन स्थित ओजस्वी कैरियर कोचिंग सेंटर के स्वामी मुकेश सैनी समेत आठ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी।घटना के खुलासे के लिए हरिद्वार एसएसपी ने टीम का गठन किया टीम ने आरोपी मुकेश सैनी पुत्र जल सिंह सैनी के ठिकानों पर छापेमारी की गई। आज 21 फरवरी को आरोपी को उसके गांव हरचंदपुर कोतवाली मंगलौर से गिरफ्तार किया। आरोपी के पास से ब्लूटूथ, एयर फोन,मोबाइल फोन और अन्य दस्तावेज पुलिस ने बरामद किये है। आरोपी मुकेश सैनी ने पूछताछ में बताया कि वह प्रतियोगी परीक्षाओं में पेपर लीक करके प्रतिभागियों को ब्लूटूथ के माध्यम से नकल करवाते हैं और इससे पूर्व भी कई परीक्षाओं में यह कार्य कर चुके हैं। आरोपी को गिरफ्तार करने वालों में कोतवाली प्रभारी मंगलौर प्रदीप चौहान, एसएसआई देवेंद्र सिंह रावत, उप निरीक्षक मनोज सिरोला,कॉन्स्टेबल प्रभाकर, संजय कंडारी, योगेंद्र, नंदकिशोर और दीपक नेगी शामिल रहे। वहीं दूसरी ओर फॉरेस्ट गार्ड भर्ती परीक्षा में नकल कराने के मुख्य आरोपी के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने उससे कड़ी पूछताछ की। जानकारी के लिए बता दें कि
16 फरवरी को वन आरक्षी पद के लिए लिखित परीक्षा का आयोजन किया गया था। इस परीक्षा पर सवाल खड़े हो गए हैं। मामले में एक अभ्यर्थी की तहरीर पर आठ आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। जिसमें मास्टर माइंड मुकेश सैनी निवासी ग्राम हरचंदपुर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है। मामले में पौड़ी में भी मुकदमा दर्ज है और एसआईटी गठित की गई है। आरोपी के पकड़े जाने के बाद सीओ सदर पौड़ी वंदना वर्मा के नेतृत्व में एक टीम पहुंची। जिसमें इंस्पेक्टर लक्ष्मण सिंह कठैत के अलावा अन्य लोग शामिल थे। टीम ने आरोपित से पूछताछ की तथा विभन्नि बिंदुओं पर उससे पूछताछ की गई। पौड़ी प़ुलिस ने मीडिया विवेचना की बात कहकर मामले में मीडिया से जानकारी शेयर नहीं की। भर्ती परीक्षा में नकल कराने के मामले का भंडाफोड़ हो जाने के बाद गठित हुई एसआईटी मामले की जांच कर रही है। सूत्रों ने बताया कि मास्टरमाइंड मुकेश सैनी ने पुलिस को बताया है कि उसने इसी भर्ती में नहीं बल्कि कई अन्य परीक्षाओं में भी कई अभ्यर्थियों को नकल करा कर उनसे लाखों रुपए वसूल किए हैं। कुछ लोग तो अभी भी विभन्नि विभागों में नौकरी कर रहे हैं। मामले में एसआईटी जांच लंबी खिंच सकती है। सूत्रों ने बताया कि मुकेश सैनी के संपर्क वाले कुछ और लोगों की तलाश जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *