बीइंग भगीरथ के स्वंयसेवियों ने मां गंगा से की कोरोना वायरस को समाप्त करने की प्रार्थना, बीइंग भगीरथ ने दिया “गंगे तव दर्शनार्थ मुक्ति”

हरिद्वार । लाॅकडाउन में गरीब, जरूरमंदों की मदद में जुटी गंगा स्वच्छता के लिए काम करने वाली संस्था बीइंग भगीरथ फाउण्डेशन के स्वयंसेवियों ने गंगा सप्तमी के अवसर पर गोविन्द घाट पर गंगा पूजन कर भारत सहित पूरी दुनिया पर छाए कोरोना संकट को दूर करने की प्रार्थना की। फाउण्डेशन के संयोजक शिखर पालीवाल ने कहा कि देश विदेश के करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था की प्रतीक मां गंगा को स्वच्छ व निर्मल बनाए रखना सभी का कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए किए गए लाॅकडाउन के दौरान गंगा जल बिना किसी प्रयास के ही स्वच्छ व निर्मल हो गया है। इससे पता चलता है कि मानवीय गलतियों के चलते ही गंगा में प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा था। लाॅकडाउन में मानवीय गतिविधियां बंद होने व उद्योगों से निकलने वाले अपशिष्ट आदि गंगा में नहीं जाने से गंगा काफी हद तक प्रदूषण से मुक्त हो गयी है। इससे यह भी साफ हुआ है कि यदि गंगा अविरल बहती रहे तो वह स्वयं को खुद ही साफ कर सकती है। बीइंग भगीरथ लंबे समय से गंगा स्वच्छता के लिए प्रयासरत है। पूरे प्रदेश में बींइग भगीरथ के स्वयंसेवी गंगा स्वच्छता के लिए अभियान चला रहे हैं। आज गंगा सप्तमी पर पूरी टीम ने मां गंगा से कोरोना वायरस से मुक्ति दिलाने की प्रार्थन की। मां गंगा की कृपा से अवश्य ही पूरी दुनिया को कोराना वायरस से मुक्ति मिलेगी। शिखर पालीवाल ने बताया कि लाॅकडाउन होने के बाद से ही बीइंग भगीरथ द्वारा गरीब, जरूतमंदों की मदद के लिए सेवा अभियान चलाया जा रहा है। संगठन के सभी स्वयंसेवी शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में जरूरतमंदों को भोजन व राशन वितरण करने में सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लाॅकडाउन जारी रहने तक यह अभियान निरंतर चलता रहेगा। सचिन गांधी ने कहा कि युगों युगों से कलकल बह रही मां गंगा भारत की जीवन रेखा है। गंगा की स्वच्छता, निर्मलता, अवरिलता बनाए रखने में सभी को सहयोग करना चाहिए। इस अवसर पर मीडिया प्रभारी शिवम अरोड़ा, हन्नी सैनी, मोहित विश्नोई, विपिन सैनी, राहुल गुप्ता, अंकित शर्मा, मोहित शर्मा, हितेश , शुभम विश्नोई, ओमशरण गुप्ता, कुणाल धवन, विनोद कुमार, विनीत चैहान, शिवम चैहान, संतोष साहू आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *