नहर पटरी के किनारे ढाई किलोमीटर लंबी ऑक्सीजन लेन की योजना को सफल बनाने के लिए जन सहभागिता जरूरी: ललित नारायण मिश्र, ऑक्सीजन लेन के संरक्षण को संकल्प पत्र भरवाए

हरिद्वार । हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण के सचिव ललित नारायण मिश्र की महत्वाकांक्षी योजना ऑक्सीजन लेन को पर्यावरण प्रेमियों का बढ़-चढ़कर सहयोग मिल रहा है। प्राधिकरण नहर पटरी के किनारे ढाई किलोमीटर की ऑक्सीजन लेन तैयार कर रहा है, जिसको लेकर 3 दिन पहले प्राधिकरण में पर्यावरण प्रेमियों और समाजसेवियों की एक बैठक हुई थी। बैठक में सर्वसम्मति से समाजसेवी एवं राज्य योजना आयोग के पूर्व सदस्य विमल कुमार को संयोजक चुना गया था।रविवार को पर्यावरण प्रेमियों की टीम सुबह सिंहद्वार पर पहुंची। पहले सभी से ऑक्सीजन लेन के संवर्धन और संरक्षण को लेकर संकल्प पत्र भरवाए गए। एचआरडीए के सचिव ललित नारायण मिश्र ने भी पहले संकल्प पत्र भरा। उसके बाद टीम ने पूरी नहर पटरी पर पैदल चलकर ऑक्सीजन लेन की कार्य योजना पर विस्तार से चर्चा की। प्राधिकरण सचिव ललित नारायण मिश्र ने कहा कि नहर पटरी के किनारे ढाई किलोमीटर लंबी ऑक्सीजन लेन बनाने की योजना है। जिसको सफल बनाने के लिए जन सहभागिता बहुत जरूरी है। उन्होंने इसको लेकर सभी से सुझाव मांगे थे, इस योजना में लोगों की जनसहयोग बढ़ चढ़कर मिल रहा है। आज इसी योजना को क्रियान्वित करने के लिए हम सब मौके पर पहुंचे थे। ये भी देखा गया है किस तरह से वृक्षों की देख देख की जा सके। यह योजना नेचर से जुड़ी हुई कार्ययोजना है। हम यहां जो पेड़ लगाएंगे वह सबसे ज्यादा ऑक्सीजन देने वाले पेड़ होंगे।टीम के संयोजक राज्य योजना आयोग के पूर्व सदस्य विमल कुमार ने कहा कि प्राधिकरण की महत्वपूर्ण ऑक्सीजन लेन योजना को धरातल पर उतारने के लिए रविवार को उनके द्वारा टीम के सभी सदस्यों को बुलाया गया था। सभी ने नहर पटरी पर स्थलीय निरीक्षण किया है सभी से सुझाव भी लिए गए हैं। जल्द ही पूरी ऑक्सीजन लेन पर वृक्षारोपण करके अलग-अलग वाटिका का नाम देकर सभी को कुछ-कुछ मीटर भाग सौप कर इस कार्य योजना को सफल बनाया जायेगा। इस मौके पर महवीर अग्रवाल, डॉक्टर राकेश शर्मा, नरेश मनचंदा, यशपाल अरोड़ा, लोकेश मिगलानी, रवि गुप्ता, संदीप कपूर, अभिषेक गुप्ता, धर्मेंद्र चौधरी, बालकृष्ण शास्त्री, लव शर्मा, प्रदीप कालरा, विकास गुलाटी, नरेश अरोड़ा, शेखर सतीजा, राहुल खुराना, हरविंदर उप्पल, तरुण बंसल, राजीव अरोड़ा, मनीष मेहता, देवेंद्र मनचंदा, जुगल सिंह, अनिल गुप्ता, रमेश उप्पाध्य, मनीष धमीजा सहित बड़ी संख्या में पर्यावरण प्रेमी और प्राधिकरण की टीम मौजूद रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.