भोले की भक्ति में सराबोर हुई शिक्षानगरी, हर हर महादेव से गूंजे शिवालय, महाशिवरात्रि पर श्रृद्धालुओं ने शिवलिंग का दूध व गंगाजल से अभिषेक किया, मांगी मनोकामना

रुड़की । महाशिवरात्रि पर शहर और देहात के मंदिरों में जलाभिषेक करने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। मंदिरों के बाहर जलाभिषेक करने वालों की लंबी लाइनें लगी रही। कई मंदिरों में शाम पांच बजे तक जलाभिषेक होता रहा। सुरक्षा के मद्देनजर मंदिरों के बाहर पुलिस तैनात रही। जलाभिषेक के लिए मंदिरों को फूलों से सजाया गया था। शुक्रवार को शिवरात्रि पर जलाभिषेक करने के लिए सिविल लाइंस स्थित शिव मंदिर के बाहर सुबह पांच बजे से ही श्रद्धालुओं की लाइनें लगनी शुरू हो गई थी। मंदिर के बाहर से कोतवाली के आगे तक करीब तीन सौ मीटर लंबी लाइन लगी रहीं। सुरक्षा के मद्देनजर मंदिर के बाहर सुबह ही पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। पुलिस ने बेरिकेडिंग लगाकर ई-रिक्शा और अन्य वाहनों की आवाजाही रोक रखी थी। मंदिर में दोपहर ढाई बजे तक जलाभिषेक होता रहा। इस मौके पर श्री सनातन धर्म रक्षणि सभा रुड़की के मंत्री सौरभ भूषण शर्मा ने कहा कि महाशिवरात्रि पर मंदिर में भव्य साज सज्जा की गई। भक्तों को किसी प्रकार की समस्या पैदा न हो इसके लिए मंदिर में मुख्य पुजारी के अलावा दो अन्य पंडितों की व्यवस्था की गई। इस मौके पर सभा के प्रधान चंद्र प्रकाश अग्रवाल, नवीन अग्रवाल, अनुज शर्मा, रोहित शांडिल्य, सावित्री मंगला आदि मौजूद रहे। वहीं रामनगर में भी शिवरात्रि पर राम मंदिर में सुबह पांच से ही जलाभिषेक शुरू हो गया था। मंदिर के पुजारी पंडित कैलाश शास्त्री ने बताया कि दोपहर दो बजे तक मंदिर के अंदर से प्रांगण में लंबी लाइन लगी थी। मंदिर में शाम चार बजे तक जलाभिषेक होता रहा। सनातन धर्म मंदिर समिति के अध्यक्ष जगदीश मेंदीरत्ता सहित सभी सदस्य उपस्थित रहे। उधर, सिविल लाइंस स्थित प्रेम मंदिर में भी सुबह से ही जलाभिषेक करने के लिए लंबी लाइन लगी थी। तहसील स्थित शिवमंदिर में भी अधिवक्ताओं और अन्य लोगों ने जलाभिषेक किया। ढंडेरा स्थित शिव मंदिर, पनियाला रोड स्थित संतोषी माता मंदिर, शिवपुरम स्थित शिवमंदिर, सुभाष नगर स्थित शिव मंदिर, कृष्णानगर स्थित शिव मंदिर में लोगों ने जलाभिषेक किया। कई मंदिरों में प्रसाद बांटा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *