उत्तराखंड में बादलों की तेज गर्जना के साथ मूसलाधार बारिश, बर्फ से ढके चारों धाम, यमुनोत्री हाईवे बंद, मैदानी क्षेत्रों में बारिश के साथ ओलावृष्टि, किसानों के चेहरे मुरझाए

देहरादून । उत्तराखंड में आज गुरुवार को लगातार दूसरे दिन मौसम खराब बना हुआ है। आज सुबह देहरादून में बादलों की तेज गर्जना के साथ मूसलाधार बारिश हुई। वहीं आज तड़के चारों धामों में बर्फबारी हुई है। चमोली जिले में भी आज मौसम खराब बना हुआ है। तीन धारा में सुबह छह बजे से पहाड़ी से मलबा आने की वजह से बदरीनाथ हाईवे बंद हो गया था। जिसे सुबह साढ़े दस बजे खोल दिया गया। बदरीनाथ धाम, हेमकुंड साहिब, फूलों की घाटी, घांघरिया, रुद्रनाथ, लाल माटी, नीति और माणा घाटियों के साथ ही ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में लगातार बारिश हो रही है। मौसम में ठंडक लौट आई है। श्रीनगर और नई टिहरी रात से लगातार बारिश हो रही है। टिहरी जिले के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हुई है। ऋषिकेश-गंगोत्री, चंबा-मसूरी मोटर मार्ग पर यातायात सामान्य रूप से चल रहा है। उत्तरकाशी जिले में कल देर रात से बारिश का सिलसिला जारी है। यमुनोत्री धाम सहित यमुना घाटी में बुधवार रात से झमाझम बारिश हो रही है। गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के साथ ही आसपास बर्फबारी हुई है। जिससे यमुनोत्री हाईवे हनुमानचट्टी से बाधित है। ऋषिकेश में भी रात से ही बारिश जारी है। बागेश्वर, रानीखेत, नैनीताल, अल्मोड़ा, बागेश्वर, मुक्तेश्वर में सुबह बारिश हुई। काशीपुर और भीमताल में बादल छाए हुए हैं। पिथौरागढ़, लोहाघाट और रुद्रपुर में हल्की धूप खिली है। भारी बारिश के कारण गुरुवार को मसूरी धनोल्टी मार्ग पर बाटाघाट के पास सड़क के नीचे भारी भूस्खलन हो गया। पूर्व में भी सड़क का एक बड़ा भाग भूस्खलन से धस गया था। जिसकी चपेट में आने से एक बच्चे की मौत भी हो गई थी। वहीं मैदानी क्षेत्रों में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है। जिससे किसानों की गेहूं की फसल जमीन पर बिछ गई है। अपनी फसल को देख किसानों के चेहरे मुरझा गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *