स्पर्शगंगा ने हस्तनिर्मित मेडिकेटेड राखी, जांबाज सैनिको के लिए पहुंचाई

हरिद्वार । स्पर्श गंगा परिवार ने केन्द्रीय शिक्षामंत्री डां रमेश पोखरियाल निशंक जी के मार्गदर्शन और राष्ट्रीय संयोजिका आरूषि निशंक के नेतृत्व में रूडकी कैंट मे कर्नल प्रदीप भाटिया को देश के सैनिकों के लिए राखियां दी जो सैनिक दिन रात अपने प्राणों की परवाह किए बिना देश की सीमा पर राष्ट्र रक्षक के रूप में कार्य कर रहे है।इस अवसर पर महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष रीता चमोली ने कहा कि बहनें पिछले एक महीने से इन इको फ्रेंडली राखियो को बनाने में जी जान से जुटी है। आशु चौधरी ने कहा कि चीन ने भारतीय बाजार पर जो कब्जा किया हुआ है उससे मुक्त होने के लिए बहनों की यह अनूठी पहल प्रशंसनीय है। इससेआत्मनिर्भर भारत को बल मिलेगा और महिलाओं, को स्वावलम्बी होने का अवसर भी। इस मौके पर प्रतिभा चौहान ने कहा कि माँ गंगा के दर्शन मात्र से जीवन धन्य हो जाता है और यह राखियाँ हमारी बहनों ने माँ गंगा में पाये जाने वाले दुर्लभ पत्थर रूपी नागों से निर्मित की हैं जो भाईयों की कलाई पर माँ गंगा का आशीर्वाद स्वरूप विराजमान होंगी यह हम भाईयों के लिए सौभाग्य की बात होगी हेमा बिष्ठ ने कहा कि करुणा महामारी का यह समय बहुत ही संकट का समय है इस समय में हमें जानलेवा वायरस के साथ मानसून के चलते और भी कई बीमारियों से अपनी रक्षा करनी होगी। ऐसे में यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली सुंदर राखियाँ जिन्हें बनाने में, बहनों, ने, हल्दी, राई, और, फिटकरी जैसी औषधीय वस्तुओं का प्रयोग, किया है वह सराहनीय है, पुनीत ने कहा, कि इन स्वदेशी राखियो के माध्यम, से बहनें अपने प्यार, के, साथ, साथ, माँ गंगा, प्रकृति, पर्यावरण एवं राष्ट्र के प्रति अपने कर्तव्य के भाव को, भी, पवित्र धागे, में पिरो रही हैं।कार्यक्रम में रेणु शर्मा,ममता राणा ,कमला केन्थुला, आशा धस्माना,गीता कारगी, पुष्पा बुड़ाकोटी सम्मिलित हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *