स्वच्छ्ता से स्वास्थ्य हर महिला का अधिकार: योगी रजनीश, लाॅकडाउन में ॐ आरोग्यम योग मंदिर द्वारा जरूरतमंदों की जा रही है मदद

रुड़की । ॐ आरोग्यम योग मंदिर का लॉक डाउन के पश्चात से भोजन सहयोग सेवा का प्रकल्प चल रहा है। भोजन सहयोग के साथ ही योगी रजनीश ने यह निर्णय लिया की संस्था भोजन के साथ ही गरीब, जरूरतमंदो को और भी जरूरत का सामान उपलब्ध करायेगी। इसी श्रृंखला में योगी रजनीश ने बताया कि लॉक डाउन के बाद से सब कुछ बंद होने के कारण लोग अपनी दैनिक आवश्यकताओं को लेकर बहुत परेशान है। चाहे महिला हो या पुरुष उनके पास रोजगार नही है, पैसे नही है। भोजन की जरूरत तो फिर भी जैसे-तैसे पूरी हो रही है किंतु और जरूरते नहीं पूरी हो पा रही है। विशेष रूप से यदि हम महिलाओं की बात करे तो महिलाओं की कुछ ऐसी जरूरते होती है जिनको वो खुल कर हर किसी से कह भी नहीं सकती। ऐसी आवश्यकताओं की पूर्ति ना होने पर उनको बहुत परेशानी से गुजरना पड़ता है। गरीब, असहाय महिलाओं की इन्ही आवश्यक वस्तुओं की पूर्ति के लिये ओयम ने “मैं नारी हूँ- स्वच्छ्ता से स्वास्थ्य” मिशन का शुभारम्भ किया है। इस मिशन को आज डॉ सरोज नैथानी (मुख्य चिकित्साधिकारी), डॉ शिखा जंगपांगी (सी.एम.एस.) के साथ मिलकर कार्यक्रम संयोजक अर्चना शर्मा ने चैनराय महिला चिकित्सालय में महिलाओं को सैनिटरी पैड्स तथा साबुन वितरित करके प्रारम्भ किया। डॉ सरोज नैथानी मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि योगी रजनीश ने लॉक डाउन के चलते महिलाओं की उन जरूरतों का ध्यान रखा है जिसको शायद सभी ने नज़रंदाज़ कर दिया था। इनका यह प्रयास बहुत ही सराहनीय है। क्योंकि सेनेटरी पैड्स के प्रयोग से महिलाए स्वच्छ रहेगी और स्वस्थ रहेगी जिससे वह एक बेहतर जीवन की दिशा की ओर अग्रसर होंगी।
अर्चना शर्मा कार्यक्रम संयोजक ने बताया कि संस्था ने आज इस मिशन की शुरुआत महिला अस्पताल से की है किंतु आगे इसको झुग्गी-झोपडी तथा बस्तियों में रहने वाली महिलाओं को निरन्तर उनकी जरूरत का सामान उपलब्ध कराते रहेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि “मैं नारी हूँ” मिशन लॉक डाउन के पश्चात भी महिलाओं के हित के लिए अपनी सेवाएं देती रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *