आईआईटी रुड़की में शोधार्थी की पत्नी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, गृहकलेश के कारण की आत्महत्या

रुड़की । आईआईटी रुड़की के शोधार्थी की पत्नी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। सूचना पर रुड़की सीओ और आईआईटी सुरक्षा अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को कब्जे में लिया है। पुलिस को कमरे से एक पत्र मिला है। जिसे सुसाइड नोट माना जा रहा है। आईआईटी रुड़की के मैनेजमेंट विभाग के शोधार्थी गणेश कुमार पत्नी नेहा (30) के साथ आईआईटी परिसर के आजाद विंग में रहते थे। मूलरूप से वह 7-पी, तहसील व थाना अनूपगढ़, जिला श्रीगंगानगर राजस्थान निवासी हैं। सोमवार सुबह गणेश शोध कार्य के लिए विभाग में गए थे। इस बीच नेहा घर पर अकेली थी। पड़ोसियों ने नेहा को बुलाने के लिए दरवाजा खटखटाया तो कोई आवाज नहीं आई। अनहोनी की आशंका पर पड़ोसियों ने घर के अंदर जाकर देखा तो नेहा का शव पंखे से लटका मिला। पड़ोसियों के शोर मचाने पर घटनास्थल पर अन्य लोग भी जमा हो गए। पड़ोसियों की सूचना पर गणेश कमरे पर पहुंचे। रुड़की सीओ चंदन सिंह बिष्ट, एसएसआई सिविल लाइंस प्रदीप कुमार और आईआईटी सुरक्षा अधिकारियों ने घटनास्थल का जायजा लिया। शव को पुलिस ने पंखे से नीचे उताया। जिसके बाद पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर कब्जे में लिया। पुलिस ने कमरे की तलाशी ली तो वहां से सुसाइड नोट बरामद हुआ। एसएसआई ने बताया कि महिला के डिप्रेशन में होने की बात सामने आई है। बताया कि दोनों की शादी 21 फरवरी 2018 को हुई थी। पुलिस को मौके से एक पत्र मिला है। जिसे सुसाइड नोट माना जा रहा है। उसमें क्या लिखा है पुलिस इसका खुलासा करने से बच रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *