सीएम तीरथ सिंह रावत ने बेस चिकित्सालय का डीसीएचसी के रूप में किया उद्घाटन, कहा सरकार और पतंजली के संयुक्त प्रयास कोरोना की इस लड़ाई में एक आदर्श स्थापित करेगा

हरिद्वार । मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज हरिद्वार पहुंचे बेस चिकित्सालय का डीसीएचसी के रूप मे उद्घाटन किया। 150 बैड का यह स्वास्थ्य उपक्रम राज्य सरकार तथा पतंजली के संयुक्त सहयोग से आज औपचारिक उद्घाटन के बाद कोरोना मरीजों के लिए डीसीएचसी के रूप में जनता को समर्पित किया।डीसीएचसी के रूप में संचालन में सहयोग के लिए पतंजली ट्रस्ट, स्वामी रामदेव, आचार्य बालकृष्ण का आभार व्यक्त किया। उद्घाटन कार्यक्रम में शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत, हरिद्वार शहरी विधायक मदन कौशिक, रानीपुर विधायक आदेश चैहान सहित मेयर अनिता शर्मा जिलाधिकारी सी रविशंकर, मुख्य चिकित्साधिकारी एसके झा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।मुख्यमंत्री ने यहां पहुंच मरीजों और तीमारदारों को चिकित्सालय पहुंचाने व कालाबाजारी से बचाने के लिए जनपद में शुरू की गयी प्रीपेड एम्बुलेंस सेवा तथा आॅक्सीजन सिलेंडर डीपो का भी उद्घाटन किया। जिला प्रशासन की ओर से तैयार जिले में कोरोना मरीजों के लिए जानकारी को सुविधाजनक बनाने के लिए बनाये पोर्टल का भी शुभारम्भ किया। हरिद्वार कोविड हेल्पलाइन पोर्टल पर जरूरतमंदो को अस्पतालों में बैड, आॅक्सीजन बैड, वेंटिलेटर आदि की मिनट टू मिनट रियल टाइम इन्फोर्मेशन आॅनलाइन मिल सकेगी। मुख्यमंत्री ने पीएएस सिस्टम के माध्यम से मरीजों से वार्ता की और उनकी स्थिति की जानकारी ली। मरीजों को आवश्यक पोषक तत्व मिले इसके लिए फल भी वितरित किए । उन्होंने कहा कि सरकार और पतंजली के संयुक्त प्रयास कोरोना की इस लड़ाई में एक आदर्श स्थापित करेगा। सरकार हर वो सहायता और सुविधा जनता को उपलब्ध कराने के लिए प्रयासरत है जिससे कोरोना जैसी महामारी से लड़ा और बचा जा सकता है।
आक्सीजन की कमी प्रदेश में नहीं होगी सभी जिला मुख्यालयों में आॅक्सीजन प्लांट स्थापित करे जा रहे हैं। आईडीपीएल ऋषिकेश एवं सुशीला तिवारी मेडिकल काॅलेज हल्द्वानी में भी 500-500 बेड के अस्थाई अस्पताल तैयार होगा। डीआरडीओ की मदद से अगले कुछ दिनों में 19 मिट्रिक टन क्षमता का आॅक्सीजन टेंक स्थापित किया जा रहा है।
हिमालयन इस्टिट्यूट जाॅलीग्रंाट में आक्सीजन प्लांट स्थापित करने हेतु भारत सरकार से अनुरोध किया गया है, जिसका सकारात्मक जवाब मिला है। जल्द ही यह भी स्थापित किया जायेगा। सरकार द्वारा बेस चिकित्सालय हरिद्वार में मरीजों को बड़ी राहत देते हुए 140 बेड्स तथा 10 इमरजेंसी बेड, 04 बाइपैप मशीन 10 वेंटिलेटर बाइपैप के साथ, निशुल्क दवाईंयां, रक्त जांच जिसमें सीआरपी, इएसआर आदि शामिल हैं पूर्णंतया निशुल्क होंगी। 80 आॅक्सीजन कंसन्टेªटर, पीएएस सिस्टम की व्यवस्था 15 मल्टी पैरामाॅनीटर, आॅक्सीजन स्पोर्ट की भी चिकित्सालय में व्यवथा रहेगी।
स्वामी रामदेव ने कहा कि पतंजली योगपीठ इस अस्पताल में स्टाफ तथा स्वच्छक स्टाफ व उसकी फीस, उनके रहने ठहरने की व्यवस्था, भोजन, फल तथा सूखे मेवा, मेंटीनेंस की व्यवस्था उपलब्ध करायेगा। इनर स्टेªंथ के बिना रोगों से नहीं लड़ा जाता इसिलए रोगियों की इनर स्ट्रेंथ बढ़ाने के लिए पतंजली के योग प्रशिक्षक द्वारा योग प्राणायाम, ध्यान, काॅउसलिंग व मनोचिकित्सा के रूप में थैरेपी की सुविधा, सकारात्मक उर्जा के लिए मंत्रोच्चारण पठनीय सामग्री भी उपलब्ध होगी जिससे मरीजों को कोविड से लड़ने में मानसिक मजबूती मिलेगी। रोगियों में स्ट्रेस को कम कराने के लिए रोगियों को शिरोधारा, बस्ती कर्म आदि कराया जायेगा। सरकार के साथ मिलकर कोरोना की इस लड़ाई में पूरा सहयोग दिया जायेगा। आचार्य बालकृष्ण ने इस संकट के समय में एक दूसरे के सहयोग को समय की मांग बताया। अपना बचाव करते हुए औरो की भी सुरक्षा करनी है। जिससे लोक कल्याण में सभी अपना योगदान दें। यह देश, राज्य और हरिद्वार हमारा परिवार है और अपने परिवार की तरह ही पतंजली यहां के रोगियों के उपचार में सहयोग करेगा। शहरी विकास मंत्री, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष, विधायक और मेयर ने पतंजली के सहयोग की सराहना की और आभार जताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.