यूरिक एसिड बढ़ा तो हड्डी और किडनी को कर सकता है कमजोर, किचन में मौजूद इन चीजों के सेवन से पा सकते हैं छुटकारा

खून में यूरिक एसिड के बढ़ने को हाइपरयूरिसीमिया कहा जाता है। आजकल यह बीमारी लोगों में बहुत आम है। मेयो क्लिनिक के अनुसार, यूरिक एसिड का स्तर अक्सर तब बढ़ जाता है जब आपके गुर्दे यानि किडनी यूरिक एसिड को प्रभावी ढंग से हटाने में असमर्थ होते हैं। जिन कारणों से गुर्दे यूरिक एसिड को हटाने में असमर्थ होते हैं उनमें बहुत अधिक भोजन करना, अधिक वजन होना, मधुमेह, कुछ मूत्रवर्धक लेना और बहुत अधिक शराब पीना शामिल है।

यूरिक एसिड का नॉर्मल लेवल कितना होना चाहिए

यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने से कई बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है। इन बीमारियों में मुख्य रूप से गठिया, हृदय रोग, किडनी से संबंधित समस्याएं शामिल हैं। पुरुषों में 3.4-7.0 मिलीग्राम यूरिक एसिड, महिलाओं में 2.4-6.0 मिलीग्राम कोई जोखिम नहीं है। यदि आपका यूरिक एसिड का स्तर बढ़ा हुआ है, तो आप इसे नियंत्रित करने के लिए कुछ उपाय कर सकते हैं।

सेब का सिरका

हेल्थ लाइन के मुताबिक सेब का सिरका एक प्राकृतिक क्लींजर और डिटॉक्सिफायर है जो शरीर से यूरिक एसिड को साफ करने का काम करता है। इसमें मौजूद एसिड यूरिक एसिड को तोड़ने का काम करता है। इसके लिए एक गिलास पानी में 1 चम्मच सेब का सिरका घोलें। अब इस घोल को दिन में 2-3 बार पिएं। ऐसा तब तक करते रहें जब तक यूरिक एसिड कंट्रोल में न हो जाए।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *