प्रशासनिक टीम का जलभराव की समस्या को लेकर निरीक्षण, हल्की बारिश होने से ही उत्पन्न हो जाती है जलभराव की समस्या

रुड़की । प्रशासनिक टीम ने ढंढ़ेडी ख्वाजगीपुर गांव में जलभराव की समस्या को लेकर स्थलीय निरीक्षण किया है। प्रशिक्षु आईएएस प्रतीक जैन और तहसीलदार व अन्य अधिकारी आज गांव में पहुंचे। जहां पर उन्होंने तालाब को देखा और वहां से पानी की निकासी के रास्तों का निरीक्षण किया। ग्रामीणों ने प्रशासनिक टीम को बताया कि पानी की निकासी की उचित इंतजाम ना होने के कारण हल्की बारिश होने पर ही जलभराव की समस्या उत्पन्न हो जाती है। इससे ग्रामीणों को काफी परेशानी हो रही है। ग्रामीणों ने बताया कि नालों की खुदाई कराए बिना पानी की निकासी सुचारू नहीं हो पाएगी। इस संबंध में ब्लॉक के अधिकारियों को कई बार ज्ञापन दिया गया। लेकिन ब्लॉक अधिकारियों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया । जिस कारण जलभराव की समस्या लगातार बढ़ रही है। ग्रामीण निर्भय सैनी, विशाल सैनी बबिता महावीर बलराम, राजबीर सिंह, पवन कुमार, सुरेश ,आशु लोकेश कुमार, स्वराज, मगन सिंह ,अरुण कुमार आदि ने प्रशासनिक टीम के समक्ष गांव के क्षतिग्रस्त मार्गो की शिकायत भी की। ग्रामीणों ने बताया कि क्षतिग्रस्त सड़क की मरम्मत नहीं हो रही है। जिस कारण आवागमन में दिक्कत हो रही है। ग्रामीणों ने बारिश और ओलावृष्टि से फसलों को हुए नुकसान के बारे में भी प्रशासनिक टीम को जानकारी दी है। इस दौरान प्रशिक्षु आईएएस प्रतीक जैन ने ग्रामीणों से गांव के साक्षरता दर प्रतिशत के बारे में जानकारी ली और सरकारी सस्ते गल्ले के वितरण की स्थिति के बारे में मालूम किया। उन्होंने कोरोना के प्रति भी ग्रामीणों को सावधान रहने के लिए कहा। प्रशिक्षु आईएएस प्रतीक जैन ने ग्रामीणों से कहा है कि कोरोना से डरने की आवश्यकता नहीं है। सावधानी बरतने की आवश्यकता है । स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाए। घर हो या रास्ता कहीं पर भी गंदगी न फैले दी जाए। उन्होंने कहा कि गंदगी के कारण ही बीमारी फैलती है इसीलिए सभी को साफ सफाई पर अधिक ध्यान देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *