लोगों को महामारी से बचाना सरकार की प्राथमिकता: यतीश्वरानंद, राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार ने सिविल अस्पताल रुड़की का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का लिया जायजा

रुड़की । गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री स्वामी यतींश्वरानंद ने सिविल अस्पताल रुड़की का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया तथा पीड़ित लोगों से मुलाकात कर उनका हालचाल पूछा। मंत्री स्वामी यतींश्वरानंद ने कहा कि रुड़की में ऑक्सीजन व दवाओं की कमी नहीं आने दी जाएगी और हर संभव यहां के नागरिकों के स्वास्थ्य की रक्षा करना सरकार का दायित्व है। मंत्री ने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता लोगों के जीवन को बचाना तथा दवाओं की कमी को दूर करना है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत रात-दिन अपने मंत्रिमंडल के सहयोग के साथ कोरोना महामारी से निपटने के लिए अधिकारियों तथा केंद्र सरकार से संपर्क में हैं और प्रदेश की जनता को किसी भी प्रकार की ऑक्सीजन में दवाओं की कमी न हो,इसके लिए प्रयासरत हैं।स्वामी यतिश्वरानंद ने कहा कि यदि संभव हुआ तो नगरवासियों के लिए आवश्यकता पड़ने पर अतिरिक्त अस्थाई स्वास्थ्य केंद्र भी बनाए जा सकते हैं।उन्होंने कहा कि हमारे स्वास्थ्य कर्मी एवं डॉक्टरों ने अपने जीवन को जोखिम में डालकर रात-दिन लोगों के जीवन बचाने का प्रयास किया है,वह सराहनीय है।इसके साथ ही हमारे पुलिस व पत्रकार भाई भी इस महामारी से लड़ने के लिए सरकार का पूरा सहयोग कर रहे हैं जो प्रथम श्रेणी के प्रोग्राम में आते हैं। लोगों को मिलकर इस महामारी का मुकाबला करना है और उन्हें आशा है कि देश की जनता जल्दी ही हम इस महामारी से निजात पा लेंगे। शहर विधायक प्रदीप बत्रा ने सिविल अस्पताल में मेडिकल सुविधाएं और बढ़ाए जाने का प्रस्ताव मंत्री के समक्ष रखा।
रुड़की मेयर गौरव गोयल ने मंत्री यतिश्नंवरानंद दिन-रात पूरे हरिद्वार जनपद के साथ-साथ रुड़की के अधिकारियों से कोरोना के संबंध में अपडेट लेते रहते हैं। शहर विधायक प्रदीप बत्रा द्वारा रुड़की में हेल्पिंग हैंड कैंप की सराहना करते हुए कहा कि शहर विधायक ने जन आवश्यकताओं और सरकार के निर्देशों के अनुसार जो अस्थाई कॉविड केंद्र खोला है वह जनता के लिए लाभकारी सिद्ध हो रहा है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक संजय कंसल,भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ.जयपाल सिंह चौहान आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *