जेईई (मेन) परीक्षा इस वर्ष अप्रैल और मई महीने में होगी आयोजित, उम्मीदवार इतनी तारीख तक भर सकते हैं आवेदन पत्र

नई दिल्ली । शिक्षा मंत्रालय ने जेईई (मेन) के नए सत्र घोषित कर दिए हैं। इस साल जेईई (मेन) परीक्षा अप्रैल और मई महीने में आयोजित होने वाले दो सत्रों में ली जाएगी। इससे पहले बीते वर्ष जेईई मेन की परीक्षा चार बार आयोजित की गई थी। हालांकि अब छात्रों को इस बार जेईई परीक्षा में शामिल होने के लिए केवल दो ही अवसर प्राप्त होंगे।
मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि उम्मीदवार 1 से 31 मार्च तक जेईई मेन 2022 आवेदन पत्र भर सकते हैं। जेईई की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इस दौरान छात्रों के मोबाइल नंबर और ई-मेल एड्रेस का प्रमाणीकरण ही किया जाएगा। उम्मीदवारों को शुल्क जमा करने से पहले, उन्हें अपने पंजीकृत ई-मेल पर प्राप्त ओटीपी दर्ज करना होगा।
आईआईटी में दाखिले के लिए ली जाने वाली यह प्रवेश परीक्षा दो हिस्सों में आयोजित की जाती है। जेईई का पहला चरण जेईई मेन है और दूसरे चरण में जेईई एडवांस टेस्ट होता है। आईआईटी के लिए आवेदन करने वाले बच्चे पहले मेन के लिए आवेदन देते हैं और इसमें सफल होने वाले आगे जेईई एडवांस परीक्षा में शामिल होते हैं। जेईई मेन परीक्षा में शामिल होने वाले बच्चों में से केवल शीर्ष 2,20,000 ही एडवांस परीक्षा में बैठने की पात्रता रखते हैं। यह परीक्षा मुख्य परीक्षा के कुछ सप्ताह बाद होगी। जेईई में शामिल होने के लिए किसी छात्र को कक्षा 12 बोर्ड में अच्छे अंक हासिल करना अनिवार्य होता है। जेईई मेन में दो पेपर होते है पेपर-1 और पेपर-2। उम्मीदवार एक या दोनों पेपर को भी चुन सकते हैं। दोनों में बहुविकल्पीय प्रश्न होते हैं। पेपर 1 बी.ई. और बीटेक कोर्स में प्रवेश के लिए है इसे ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड दोनों में आयोजित किया जाता है। पेपर-2 बी.आर्क और बी.प्लानिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए है यह केवल ऑफलाइन आयोजित किया जाता है।
जेईई एडवर्डस के विपरीत जेईई मेन की एक निश्चित परीक्षा संरचना है। पेपर-1 तीन घंटे की अवधि का होता है और तीन विषयों (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और गणित) में प्रत्येक से तीस-तीस बहु-विकल्प (एकल-सही) प्रश्न शामिल होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *