विजिलेंस और अन्य जांच एजेंसियों से घिरे पूर्व डीएफओ किशनचंद को को अखाड़े के महामंत्री पद से हटाया

हरिद्वार । विजिलेंस और अन्य जांच एजेंसियों से घिरे पूर्व डीएफओ किशनचंद को श्री गुरु रविदास अखाड़े के महामंत्री पद से हटा दिया है। बहादराबाद रिसर्च कॉलोनी स्थित भाजपा विधायक सुरेश राठौर के कैंप कार्यालय में आयोजित एक बैठक में यह निर्णय लिया गया है। किशन चंद पर कालागढ़ रेंज में तैनाती के दौरान मोरघट्टी और पाखरो में अवैध तरीके से निर्माण कार्य कराने, हरे पेड़ों के कटान, सरकारी धन के दुरुपयोग और फर्जी बिल बनाकर ठेकेदारों को भुगतान करने का आरोप है। शासन ने इसे भ्रष्टाचार मानते हुए विजिलेंस को मामले की जांच सौंप दी थी। पूर्व डीएफओ किशनचंद को पूर्व भाजपा विधायक और रविदासाचार्य सुरेश राठौर ने बीते माह ही उत्तरी हरिद्वार में एक कार्यक्रम के दौरान रविदास अखाड़े में महामंत्री पद से नवाजा था। बावजूद किशनचंद की मुश्किलें कम नहीं हुई। कालागढ़ टाइगर रिजर्व की पाखरो रेंज में टाइगर सफारी निर्माण में अनियमितता के मुख्य आरोपी पूर्व डीएफओ किशन चंद के मेरठ स्थित घर में बीते सोमवार को विजिलेंस टीम ने छापेमारी की, लेकिन वह विजिलेंस के हाथ नहीं लगे। जबकि एक टीम हरिद्वार में किशन चंद की गिरफ्तारी को डेरा डाले हुए हैं। गुरुवार को भाजपा के पूर्व विधायक और रविदासाचार्य सुरेश राठौर ने बैठक कर प्रेस विज्ञप्ति जारी की। सुरेश राठौर ने कहा कि किशनचंद के विरुद्ध जिन जिन सरकारी व अर्द्ध-सरकारी एजेंसियों से जांच चल रही है और जब तक पूरी नहीं हो जाती एवं संन्यास परंपराओं को धारण नहीं करते तब तक किशनचंद को अखाड़े के महामंत्री पद और अखाड़े की सभी गतिविधियों से मुक्त कर दिया है। श्री गुरु रविदास विश्व महापीठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व भाजपा विधायक सुरेश राठौर ने कहा कि किशनचंद पर गंभीर आरोप लगे हैं इसलिए उन्हें महामंत्री पद से हटा दिया है।

One thought on “विजिलेंस और अन्य जांच एजेंसियों से घिरे पूर्व डीएफओ किशनचंद को को अखाड़े के महामंत्री पद से हटाया

  1. Good decision.. They have not even cleared the salaries of the employees working in school and no one is ready to initiative for the same..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *